image

देहरादूनः उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश के दौरान देहरादून जिले में सात लोगों की मौत हो गई, वहीं कई मवेशी बह गए हैं। साथ ही कई मार्ग मलवा आने के कारण अवरुद्व हो गए हैं।

देहरादून मंगलवार देर रात से शुरु हुई बारिश के कारण एक मकान के ध्वस्त होने से एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई, जबकि दो अन्य घायल हो गये। वहीं अलग-अलग स्थानों पर नदियों में बहने से तीन की मौत हो गई। भारी बारिश के दौरान देहरादून की सड़कों ने नदी का रुप ले लिया। जिसमें कई दोपहिया वाहन भी बह गए। रिस्पना नदी के किनारे कई घरों में पानी घुसने के साथ दीवार एवं पुश्ते ध्वस्त होने की भी सूचना है। कुमाऊं के पिथौरागढ़ में राम गंगा नदी में बागेश्वर जिले को जोड़ने वाला झूला पुल बह गया। साथ ही दो वाहन के बहने की सूचना है। गढ़वाल और कुमाऊं में भारी बारिश के कारण कई मार्ग अवरुद्व हो गए हैं।


देहरादून के ही सीमाद्वार स्थित शासत्रीनगर में मकान के ध्वस्त होने से मलबे में दबकर चार लोगों की मौत हो गई। मृतकों में दंपती और दो बच्चे शामिल हैं। इसी घटना में दो अन्य भी घायल हुए। मृतकों के शव के साथ ही घायलों को भी मलबे से निकाल लिया गया। यह सभी बिहार के दरभंगा जिले के मूल निवासी हैं। 

सहसपुर क्षेत्र में ग्राम छरबा में शीतला नदी के रपटे को पार कर रहे व्यक्ति की बहने से मौत हो गई। सहसपुर पुलिस ने पानी के तेज बहाव में बह रहे व्यक्ति के शव को निकाल लिया। मृतक की पहचान अब्दुल अजीज (65) पुत्र मखदूम निवासी ग्राम छरबा थाना सहसपुर देहरादून के रुप में हुई। वह आम के बाग में चौकीदारी करता था और सुबह बाग में जा रहा था। 

थाना नेहरु कॉलोनी अंतर्गत मोथरोवाला क्षेत्र में दौड़वाला के पास रिस्पना नदी में एक व्यक्ति का शव पड़ा होने की सूचना पर पुलिस बल तत्काल मौके पर पहुंचा। पता चला है की उक्त व्यक्ति राजेश पुत्र बलदेव बलवीर रोड, डालनवाला निवासी है। वह रिस्पना नदी के तेज बहाव की चपेट में आने से बह गया था। वहीं, थाना रायपुर क्षेत्र में नफीस अहमद (50) पुत्र मुस्तफा अहमद निवासी एलआइजी ब्लाक एमडीडीए कालोनी रिस्पना के तेज बहाव में बह गए। सूचना पर पुलिस ने रेस्क्यू अभियान चलाया और थाना क्लेमंटाउन क्षेत्र में दूधली गांव से शव बरामद किया गया। देहरादून में ही बिंदाल पल  के पास जलभराव से पांच मवेशियों की मौत हो गई। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: seven died due to torrential rains in uttarakhand

Advertisement
free stats