Advertisement
image

रोहतक : महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के टाइप वन के क्वार्टर नंबर 44 में एक छात्रा ने अपने पिता की लाईसैंसी रिवाल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि बीएससी पास करने के बाद उसने एमएससी में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा दी थी। उसमें अंक कम आने पर वह परेशान थी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें युवती ने लिखा है कि वह कम अंक आने की वजह से आत्महत्या कर रही है और इसके लिए वह स्वयं जिम्मेदार है। छात्रा ने यह भी लिखा है कि मम्मी-पापा उसे माफ कर देना। पुलिस ने परिजनों के बयान दर्ज करने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए पीजीआई भेज दिया।

READ NEWS : पत्थरबाजों को काबू करती नजर आएंगी अब महिला कमांडो, दी गई है स्पैशल ट्रेनिंग

एमडीयू के छात्रवास में भी कई छात्राएं आत्महत्या कर चुकी हैं। मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि तनाव व भागदौड़ की जिंदगी के चलते युवा भ्रमित हो जाते हैं। वे यह कदम न उठाएं इसके लिए जागरूकता सबसे जरूरी है। पुलिस के अनुसार एमडीयू के टाइप वन के क्वार्टर नबर 44 में रहने वाले धर्मपाल आज सुबह अपनी पत्नी के साथ किसी काम के चलते घर से बाहर गए हुए थे। घर पर उनकी बेटी रूपेश थी।

READ NEWS : पंजाब में बेअदबी की घटनाओं के पीछे डेरा सच्च सौदा का हाथ !

वह पिछले तीन-चार दिनों से प्रवेश परीक्षा में कम अंक आने की वजह से परेशान थी। शनिवार सुबह रूपेश ने अलमारी में रखे अपने पिता की लाइसेंसी रिवाल्वर निकाल कर सिर में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। गोली चलने की आवाज सुनकर पडोस के लोग मौके पर पहुंचे। उन्होंने देखा की रूपेश लहुलुहान हालत में पड़ी हुई है। पड़ोसियों ने रूपेश को तुरंत पीजीआई पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पड़ोसियों ने घटना की सूचना उसके परिजनों को दी।

 

पंजाब और देश - विदेश से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक। Youtube

Web Title: rohtak daughter shot herself with fathers license pistol


advertisement
free stats Web Analytics