image

वृषभ: कारोबार व व्यवसाय की दृष्टि से अधिक मेहनत करना पड़ेगी। बाहरी सहायता तथा कानूनी बाधा दूर होने से लाभ में वृद्धि होगी। अतिरिक्त आय के स्रोत मिलेंगे। पुरानी रुकी हूई पदोन्नति इस वर्ष प्राप्त होगी। अधिकारों में वृद्धि होगी। घर-परिवार में संपत्ति तथा अधिकार का विभाजन मनोनुकूल रह सकता है। संपत्ति आदि के नवीनीकरण, रखरखाव पर व्यय अधिक होगा। कारोबार में भी ऐसा ही संभव है। घाटे के उपक्रम बंद करने में ही समझदारी है। आय के नए स्रोत प्राप्त होंगे। परिवार के वृद्धजनों के स्वास्थ्‍य पर व्यय होगा। दूसरों की सहायता करना पड़ सकती है। संतान पक्ष की चिंता रहेगी। परिवार में मांगलिक कार्य तथा परिवार की वृद्धि होगी। पेट के रोग, रक्त की कमी तथा शरीर के ऊपरी भाग में रोग संभव है। खानपान पर ध्यान दें। व्यायाम व सूर्य नमस्कार करें। वर्ष के उत्तरार्ध में बाधा संभव है। मनचाहा करियर पाने में सफल रहेंगे। नौकरी में उन्नति तथा नियुक्ति मनोनुकूल रहेगी। यात्रा में लापरवाही हानि देगी। वरिष्ठजनों की सहायता मिलेगी। पुराने संपर्क काम आएंगे। शनि की अढैया चल रही है। पीपल में जल तथा तेल का दीपक लगाएं। पेड़ लगाएं। हनुमानजी की सेवा-साधना कष्ट कम करेगी। अपंगों की सहायता करें। शनिवार व्रत लाभकारी रहेगा। शुभ ग्रह- बुध, शुक्र, शनि। शुभ रंग- हरा, काला, आसमानी। शुभ वार- बुध, शुक्रवार, शनिवार। शुभ अंक- 5, 6, 8। शुभ रत्न- हीरा, पन्ना, नीलम। शुभ रुद्राक्ष- चार, छ:, सातमुखी रुद्राक्ष। शुभ देवता- गणेशजी, लक्ष्मीजी, हनुमानजी। शुभ व्रत- शुक्रवार एवं पंचमी। सोमवार, शनिवार। शुभ मंत्र- महामृत्युंजय या ॐ जूं स: शुभ उपाय- पीपल में जल तथा तेल का दीपक लगाएं। वरिष्‍ठजनों का आशीष लें। स्वार्थपरता त्यागें। बाधा निवारण के लिए- वक्रतुण्‍डाय हुं तथा धन के लिए ॐ श्रीं नम: 1-1 माला जपें।

पंजाब और देश - विदेश से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक। Youtube
free stats