Advertisement
image

ब्रसेल्स : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज कहा कि वह अपने रुसी समकक्ष व्लादिमीर पुतिन को ‘दुश्मन’ नहीं बल्कि ‘प्रतिस्पर्धी’ के रुप में देखते हैं.   पुतिन से भेंट से पूर्व ट्रंप ने नाटो सम्मेलन के मौके पर संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘किसी ने कहा ‘क्या वह दुश्मन हैं? नहीं, मैं उन्हें अच्छी तरह जानता भी नहीं लेकिन दो चार बार मुङो उनसे मिलने का मौका मिला, हमारी मुलाकात अच्छी रही।
 उन्होंने कहा, ‘‘..लेकिन आखिरकार तो वह प्रतिस्पर्धी हैं, वह रुस का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं, मैं अमेरिका का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं। ’’  उन्होंने कहा, ‘‘आशा है कि किसी दिन वह एक मित्र बन जायेंगे, लेकिन मुङो वह दिन मालूम नहीं है.’’  दोनों का शिखर सम्मेलन में काफी कुछ दांव पर लगा है। 
 ट्रंप ने कहा कि वह सीरिया में गृहयुद्ध, यूव्रेन में संघर्ष, 2016 के अमेरिका चुनाव में रुस के दखल के बारे मेर्ं उनके साथी चर्चा करेंगे।
 उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं आपके पसंदीदा प्रश्न हस्तक्षेप के बारे में पूछूंगा। जो मैं कर सकता हैं वह यह पूछूंगा कि क्या आपने किया और फिर ऐसा मत कीजिए। वह इनकार कर सकते हैं.’’  अमेरिकी राष्ट्रपति से यह भी पूछा गया कि क्या वह व्रीमिया को रुस के हिस्से के तौर पर मान्यता देने के लिए तैयार है जिसे 2014 में यूव्रेन से छीन लिया गया था। 
 कुछ समाचार रिपोटरे और विश्लेषणों में कहा गया था कि ट्रंप सीरिया में सहयोग के बदले में पुतिन को व्रीमिया पर अधिकार दे सकते हैं.
  ट्रंप ने इसके लिए अपने पूर्ववर्ती बराक ओबामा को दोष देते हुए कहा, ‘‘ यहां से आगे व्रीमिया के लिए क्या होगा? ये मैं आपको नहीं बता सकता लेकिन मैं व्रीमिया के लिए खुश नहीं हूं । मैंने तो ये होने नहीं दिया था।’’  

 

पंजाब और देश - विदेश से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक। Youtube

Web Title: putin is my competitor and not enemy donald trump


advertisement
free stats