image

लुधियाना: डोप टैस्ट को लेकर मची होड़ के बीच पंजाबी गायक हरभजन मान ने सवाल उठाया है कि सरकारी कर्मचारियों या नेताओं के डोप टैस्ट कराने से नशे की समस्या का हल कैसे होगा? मान शनिवार को नशे के विरोध में एन.जी.ओ. व आम लोगों द्वारा एक से सात जुलाई तक चलाई मुहिम ‘मरो या विरोध करो’ के तहत मिनी सचिवालय से आरती चौक तक निकाले गए अवेयरनैस मार्च में शामिल होने के लिए पहुंचे थे। उनके साथ गायक राज काकड़ा व नाटककार गुरतेज चित्रकार भी मौजूद थे। हरभजन मान ने कहा कि उन्हें यही समझ में नहीं आ रहा है कि डोप टैस्ट कराने से पंजाब में नशे की समस्या कैसे खत्म हो जाएगी। 

मान ने कहा कि पंजाब में चिट्टा स्मैक खत्म नहीं हुआ है। यदि यह खत्म हो गया तो न तो नौजवानों की मौत होती और न ही लोग इस तरह से सड़कों पर उतरते। उन्होंने कहा कि नशे के खात्मे के लिए लोग पार्टीबाजी या ग्रुपबाजी से उपर उठकर विरोध कर रहे हैं। जनता के हाथ में सबसे बड़ी ताकत आती है तो जनता ही सभी इंकलाब लाती है लेकिन इसके साथ नशे का खात्मा सरकार के सहयोग के बिना नहीं हो सकता है। सरकार सब कुछ समझती है। अगर सरकार सच्ची नीयत से इस बीमारी के इलाज का मन बना ले तो इसके रिजल्ट भी सामने आएंगे। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: punjabi singer harbhajan maan raised question what does the dope test relate to the disappearance of drunkenness

More News From punjab

Advertisement
Advertisement
free stats