image

पंजाबी कवि मोहनजीत को उनकी पुस्तक 'कोणे दा सूरज' के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार के लिए नोमिनेट किया गया है। उनकी इस किताब में एक लंबी कविता है जिसे 2 भागों में लिखा गया है। यह कविता कोणार्क के सूर्य मंदिर पर आधारित है। इससे पहले मोहनजीत ने पंजाबी कविता लेखन में महत्वपूर्ण काम किया है और इस दौरान उन्होंने कई पुस्तकों को भी लिखा है। जिनमें उनकी प्रसिद्ध कविता रचनाओं में कुछ हैं:

  • सहकदा शहर
  • तुरदे फिरदे मश्करे
  • वर वरिक
  • की नारी की नदी
  • गुढ़ी लिस्ट दा वरका
  • डटां वाले बूहे
  • हवा प्याजी
  • ऊहले विच उजाला
  • चन्न दी दीवार
  • कोणे दा सूरज

इन पुस्तकों में कुछ पुस्तकें लेखकों के रेखाचित्र हैं। इसके अलावा मोहनजीत ने संपादना और अनुवाद में भी महत्वपूर्ण काम किया है। पंजाबी भाषा को पीढ़ी दर पीढ़ी संजो कर रखने के लिए उनका किया गया यह कार्य उल्लेखनीय है। मोहनजीत का साहित्य अकादमी पुस्कार के लिए नामांकित होना पंजाबी भाषा और पंजाब दोनोें के लिए गर्व की बात है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Punjabi poet Mohanjeet nominated for the Sahitya Akademi Award

More News From punjab

free stats