image

लुधियाना: विपक्षी दलों के नेता पंजाब सरकार को सलाहें देने की बजाय नशा रोकने के लिए कुछ काम करके दिखाएं। खासकर डी.जी.पी. को छुट्टी पर भेजने का बयान देने वाले विपक्ष के नेता खैहरा यह सुन लें कि पंजाब सरकार उनके मुताबिक नहीं चलेगी। सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने रविवार को सिविल अस्पताल में मीडिया से बातचीत के दौरान यह बातें कहीं। बिट्टू ने आम लोगों से नशे के खात्मे के लिए सहयोग मांगते हुए कहा कि अगर उन्हें किसी भी नशा कारोबारी के बारे में पता है तो वह पुलिस को गुप्त सूचना दें। 

इस दौरान बिट्टू ने मुल्लांपुर व जांगपुर के नौ नौजवानों को नशामुक्ति के इलाज के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। उन्होंने कहा कि आज जब वह हलका दाखा के विभिन्न गांवों में घूम रहे थे तो उस दौरान मुल्लांपुर के पांच व जांगपुर के चार नौजवानों ने नशामुक्ति की इच्छा जताई। इस पर उन्हें सिविल अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है और डाक्टरों को उनके इलाज के लिए हिदायतें जारी कर दी गई है। बिट्टू ने अन्य नौजवानों से भी नशामुक्ति के लिए आगे आने का आह्वान किया। इस मौके पर पूर्व मंत्री मलकीत सिंह दाखा, कांग्रेस के रूरल प्रधान गुरदेव सिंह लापरां व बिट्टू के निजी सहायक हरजिंदर सिंह ढींडसा भी मौजूद थे। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: punjab government will not run according to khaira ravneet bittu

free stats