image

जालंधर: दिवाली की रात पंजाब की हवा पिछले साल के मुकाबले 29 फीसदी कम प्रदूषित थी। फिर भी पंजाब के शहरों में सबसे ज्यादा दयनीय हालत जालंधर की रही। रात आठ बजे से पहले पटाखे फूटने लगे। आधी रात के बाद भी चलते रहे। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत पंजाब में रात आठ से दस बजे के बीच ही आतिशबाजी की इजाजत थी। पंजाब में ज्यादा कार्रवाई नहीं हुई। जालंधर में 8 केस दर्ज हुए।  चंडीगढ़ पुलिस ने दिवाली की रात सुप्रीम कोर्ट का आदेश तोड़कर पटाखे फोड़ने पर 34 लोगों को गिरफ्तार किया। बिना लाइसैंस पटाखे बेचने पर पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था। 
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Pollution drops by 29% on Diwali in Punjab, Jalandhar's records worst air

More News From punjab

Advertisement
Advertisement
free stats