image

ब्रज मोहन सिंह 

पंजाब के शहरों में, गांवों में, सडकों पर, गली चौराहों में  इन दिनों हाथ में तख्तियां लिए, बाहों पर काली पट्टी बांधें अनगिनत युवा, बच्चे और महिलाएं नज़र आ जाएँगे। ये लोग पंजाब को नशे से बचाने के लिए एक बड़ी मुहिम चला रहे हैं।आज पूरे पंजाब में ड्रग्स के खिलाफ एक आन्दोलन चल रहा है जिसे नाम दिया गया है "मरो या विरोध करो." वाकई लोगों के पास क्या रास्ता बचा है?

ये आन्दोलन महात्मा गांधी द्वारा शुरू किये आन्दोलन “करो या मरो” यानि "डू या डाई" की याद दिलाता है। ड्रग्स को लेकर पहले भी काफी सियासत हो चुकी है लेकिन उससे पंजाब और उसके लोगों का कोई भला नहीं हुआ।  ज़रूरी है आन्दोलन में सियासत न आने दें।

हम सब रोज़ यह खबर पढ़ रहे हैं कि पंजाब में नशे के ओवरडोज़ से मरने वाले लोगों को तादाद लगातार बढ़ रही है, जिसमें युवा ज्यादा हैं।एक आंकड़े के मुताबिक पिछले 15 दिनों में कम से कम 32 लोगों की नशे के ओवरडोज़ से मौत हो गयी। हर गुजरता दिन भयावह हो रहा है, लोग कह रहे हैं सरकार स्थिति संभाल नहीं पा रही है। सरकार भी पुलिस पर दबाव बना रही है कि वह ड्रग्स के नेटवर्क को ख़त्म करे. 
लेकिन क्या पुलिस और ऐसा करेगी, कब करेगी? इस सवाल का किसी के पास जवाब नहीं।

पंजाब की कांग्रेस सरकार ने फौरी तौर पर कुछ कठोरतम फैसले भी लिए जो पहले नहीं लिए गए थे, जैसे ड्रग्स का कारोबार करने वालों के लिए फांसी देने का फैसला। यह सब संभव होगा जब केंद्र इसकी अनुमति दे। वैसे कैप्टन सरकार की नीयत तो साफ़ झलकती है कि वह कठोर कदम उठाना चाह रही है। ज़ाहिर है फांसी वाली बात अभी सिरे नहीं चढ़ेगी, पंजाब में, पूरे देश में और दुनिया भर में इसका विरोध होगा।

अधिकारियों की भर्ती और प्रमोशन के समय भी सरकार ने डोप टेस्ट कराने का फैसला लिया है, इसका स्वागत हर जगह होगा। आज सुबह ही पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने ने मांग की कि सरकारी अधिकारी ही क्यों, मंत्रियों और सांसदों को भी अपना डोप टेस्ट करवाना चाहिए। सीनियर बादल के इस बात में दम है।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ड्रग्स को लेकर कुछ करना चाह रहे हैं, अगर वह पंजाब को नशे से मुक्ति दिलाने में कामयाब रहे तो पंजाब की आने वाली नस्लें उन्हें याद करेंगी जैसा आज सरदार बेअंत सिंह को याद किया जाता है, पंजाब की धरती से आतंकवाद को ख़त्म करने के लिए। मुझे लगता है पंजाब के लोग अमरिंदर सिंह के साथ उठ खड़े होंगे।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: people of punjab on roads against drug addiction

More News From national

Advertisement
Advertisement
free stats