Advertisement
image

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मलोट रैली के दौरान किसानी संकट से जुड़े अहम मसलों को सुलझाने के लिए कोई ठोस प्रोग्राम न देने पर निराशा जाहिर की है। इसके साथ ही कैप्टन ने अकालियों को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री को रैली में उपस्थित होने की इजाजत देकर पंजाब के साथ द्रोह किया है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि संकट में फंसी किसानी को मोदी के भाषण में से उनकी समस्याओं का हल निकलने की आशा थी परन्तु कोई ठोस बात नहीं निकली। उन्होंने हैरानी जाहिर की कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में किसान खुदकुशियों, कृषि कर्जो और स्वामीनाथन रिपोर्ट का जिक्र तक नहीं किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बादलों ने पानी पर पंजाब के हक और सतलुज-यमुना लिंक नहर के मुद्दे पर आवाज उठाने के बजाय हमारे राज्य के हितों के खिलाफ सक्रिय हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के साथ मंच सांझा करके किसानों के जख्मों पर नमक छिड़का है।

पंजाब और देश - विदेश से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक। Youtube

Web Title: modi did not mention the problem of farmers amarinder


advertisement
free stats Web Analytics