image

जींदः हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज कहा कि केंद्र सरकार द्वारा फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में की गई वृद्धि से किसानों को स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों से भी बढ़ कर भाव मिलेंगे। खट्टर ने नरवाना के अपने दौरे के दौरान पौधारोपण अभियान शुरु करने तथा लगभग 73 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में यह बात कही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा एमएसपी में की गई वृद्धि से किसानों को 50 से लेकर 96 प्रतिशत तक लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा इस एमएसपी में कृषि पर आने वाली लागत डीजल-पैट्रोल खर्च, जमीन का किराया, पूंजी का ब्याज, बीज, खाद और कीटनाशक खर्च आदि सब जोड़ा गया है।

एक सवाल पर मुख्यमंत्री ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुये कहा कि इस पार्टी के नेता किस मुंह से स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट की बात करते हैं। यह रिपोर्ट तो 2006 में कांग्रेस के समय में आई थी और इसे लागू करने की जिम्मेदारी उसकी ही बनती थी। रिपोर्ट के अध्ययन और क्रियान्वयन के लिये जो कमेटी गठित की गई उसके तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा चैयरमैन थे। लेकिन चार साल तक एक भी कदम इस दिशा में आगे नहीं बढ़ाया गया। उन्होंने कहा कि इस रिपोर्ट के कई भाग थे जिसमें से राज्य की मौजूदा सरकार ने फसल बीमा योजना और भावांतर भरपाई योजना को लागू की है। फसलों का मुआवजा भी बढ़ाया है। स्वयं स्वामीनाथन ने ट्वीट कर सरकार के कदमों की सराहना की है।एसवाईएल को लेकर सवाल पर श्री खट्टर ने कहा कि यह मुद्दा आज का नहीं है इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) नेता इस पर मुद्दे पर राजनीति कर रहे हैं। राज्य की मौजूदा सरकार की इस मामले की गई ठोस पैरवी के बाद उच्चतम न्यायालय ने अपने निर्णय में राज्य को उसके हक का पानी देने की बात कही है। अब फैसले के क्रियान्वयन के लिये राज्य सरकार अदालत में गई है और जल्द ही इस पर भी फैसला आएगा।

उन्होंने इनेलो नेताओं पर निशाना साधते हुये कहा कि वे अदालत के फैसले के बाद अंगुली कटा कर शहीद होना चाहते हैं। राज्य की जनता इस बात को समझ चुकी है। उन्होंने इनेलो पर चुटकी लेते हुये कहा कि वह‘एस वाई एल’का इस्तेमाल‘सत्ता यूं लूंगा’की तरह कर रही है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: khattars attack on congress said farmers will get more from swaminathan report than their crops

More News From punjab

Advertisement
Advertisement
free stats