image

प्रिय पाठको, एक बार फिर से आपके सहयोग तथा सहायता की आवश्यकता आन पड़ी है। जब भी देश अथवा देश के आसपास भी कोई संकट आता है तो मां भगवती का एक मूक संदेश अपने आप मेरे हृदय तक पहुंचता है कि जो लोग मुसीबत में घिर गए हैं उनकी सहायता के लिए हाथ बढ़ाना है, इसलिए अपने आपको तैयार कर लो। बस तभी मेरा यह हृदय आप ही को पुकारता है। आप ही तो हैं जिन्होंने हर बार मेरी एक आवाज पर अपना कंधा मेरे कंधे से मिलाया है।

साथियो, मैं भूला कहां हूं, उत्तराखंड, नेपाल और कश्मीर के लोगों का दर्द तथा उस दर्द पर मरहम लगाने के लिए शुरू किए गए प्रयास में आप सबकी भूमिका। अगर आप साथ नहीं देते तो भला उत्तराखंड की आफत में राहत के लिए, नेपाल के भूकंप पीड़ितों की सहायता के लिए तथा कश्मीर की बाढ़ में बर्बाद हुए लोगों के पुनर्वास के लिए 9 करोड़ से भी अधिक रुपए कैसे एकत्र कर पाता दैनिक सवेरा परिवार। आप पढ़ ही रहे हैं कि आसमान से बरसे कहर के चलते दक्षिण भारत, विशेष रूप से केरल भारी मुसीबत में फंस चुका है।

विभिन्न समाचार एजैंसियों की सूचना के अनुसार अब तक करीब 200 लोग अपनी जान से हाथ धो बैठे हैं। एक अंदाजे के अनुसार 8,000 करोड़ रुपए की संपत्ति नष्ट हो चुकी है तथा हज़ारों लोग बेघर हो चुके हैं। एक लाख से भी ज्यादा लोग घर से बेघर होकर राहत शिविरों में पहुंच चुके हैं। अनेक लोग अभी भी हवा की रफ्तार से भी तेज बह रहे पानी से बचने के लिए सहारे ढूंढ रहे हैं। थल सेना, जल सेना, वायु सेना, अर्धसैनिक सुरक्षा बल तथा आपदा प्रबंधन अभियान के कार्यकत्र्ता दिन-रात फंसे हुए लोगों को बचाने के लिए प्रयासरत हैं, कहीं नाविक अपनी नावों को लेकर पहुंच रहे हैं तो कहीं हैलीकॉप्टर द्वारा बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने का प्रयास किया जा रहा है।

चिंता प्रदेश सरकार को भी है तथा केंद्र सरकार को भी, 3 दिन पहले केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने वहां का दौरा किया तथा अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी स्वयं जाकर वहां के हालात का जायजा लिया है तथा हवाई सर्वेक्षण कर यह देखने का प्रयास भी किया है कि कितनी क्षति हुई है तथा किस प्रकार से कितनी सहायता की जा सकती है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 500 करोड़ रुपए की सहायता देने की घोषणा की है तथा कई प्रदेश सरकारें भी सहायता की घोषणाएं कर चुकी हैं। प्रदेश सरकार तथा केंद्र सरकार बचाव कार्यो के लिए सक्रि य हो चुकी हैं। अभी जितना नुक्सान दिख रहा है, वास्तव में नुक्सान उससे कहीं ज्यादा हुआ है तथा जो क्षति हुई है, उसे पूरा करने के लिए जो प्रयास किए जा रहे हैं वो काफी नहीं हैं। 

अभी तो आफत रु की भी नहीं है तथा मौसम विभाग कह रहा है कि अभी आसमान से और भी कहर बरस सकता है। अभी तो अनेक लोग लापता हैं तथा यह पता लगाना बाकी है कि वे बहकर गए कहां हैं, जीवित भी हैं कि नहीं? उस क्षति को केंद्र सरकार की सहायता के बावजूद पूरा नहीं कर पाएगी केरल सरकार, इसके लिए हर भारत वासी को सहयोग करना होगा। सभी को अपने सामथ्र्य के अनुसार अपना योगदान डालना होगा। मुझे गर्व है कि पंजाब, चंडीगढ़, हरियाणा, हिमाचल, जम्मू-कश्मीर तथा दिल्ली के लोग सदैव ही उन लोगों के साथ खड़े होते रहे हैं, जिन पर कभी भी कहीं भी प्राकृतिक आपदा आई है। इसलिए मुझे यह भी विश्वास है कि अब एक बार फिर से आप सब मेरी ताकत बनकर खड़े हो जाएंगे तथा मेरे साथ मिल कर उस हर व्यक्ति की पीड़ा हरने का प्रयास करेंगे जिन्हें बैठे-बिठाए कुदरत ने असहनीय पीड़ा का दंश दिया है।

भारतीय रेलवे ने एक लाख बोतलें पीने वाले पानी की केरल भिजवा दी हैं तथा यह भी घोषणा की है कि जो राहत सामग्री केरल के प्रभावित क्षेत्रों के लिए दी जाएगी, रेलवे उसे नि:शुल्क रूप से वहां भिजवाएगी। रेलवे भिजवाएगी तो अवश्य, लेकिन भेजना तो हमें है, आपको है, और देर नहीं करनी है, क्योंकि उन्हें इंतजार है तथा उन्हें अभी आवश्यकता है। मां की कृपा से जो कुछ मुझे या मेरे परिवार को मिला है, उसमें से मैंने भी छोटा सा हिस्सा डाल कर रिलीफ फंड प्रारंभ करने का निर्णय लिया है। 21 लाख रुपए का एक चैक दैनिक सवेरा परिवार की ओर से भेंट करके मैंने शुरुआत कर दी है, इस विश्वास के साथ कि आप ज्योत से ज्योत जलाकर इस पुण्य कार्य को अंजाम तक पहुंचाएंगे। आप बैंक ड्राफ्ट, चैक अथवा नकद राशि भेजकर इस पुण्य कार्य के लिए शुरू किए गए इस महायज्ञ में आहुति डाल सकते हैं। मेरी एक प्रार्थना है कि जब कोई अच्छा कार्य करने की इच्छा मन में उत्पन्न हो जाए तो फिर देर करना अच्छी बात नहीं होती, तभी तो शास्त्र कहते हैं कि ‘तुरंत दान-महा कल्याण।’

- आभारी, शीतल विज। 
बाढ़ पीड़ितों की मदद करें
आप चैक/डिमांड ड्राफ्ट भेज सकते हैं।
कार्यालय : सवेरा भवन, 259, लाजपत नगर, गुरु नानक मिशन चौक, जालंधर
फोन नं. : 0181-2370100
चैक/ड्राफ्ट Prime Minister Relief Fund (kerala) के पक्ष में बनवाएं।  

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: kerala Relief Fund : Dainik Savera family contributed Rs. 21 lakhs

Advertisement
Advertisement
Advertisement
free stats