फिरोजपुर : फिरोजपुर शहर के तूड़ी बाजार के गुप्त ठिकाने की खोज करने वाले फिरोजपुर रेल मंडल के लैंड विभाग के एसएसई और लेखक राकेश कुमार ने नया खुलासा किया है। राकेश कुमार ने अपनी खोज व गिरफ्तार किए गए क्रांतिकारियों के लेख से पता लगाया है कि क्रांतिकारी गया प्रसाद, जय देव और शिव वर्मा के लिखेलेख से पता चला है कि उनकी गिरफ्तारी फिरोजपुर शहर के तूड़ी बाजार के ही रहने वाले कालू राम नाम के व्यक्ति की मुखबरी से हुई थी।

 

उन्होंने बताया कि क्रांतिकारी गया प्रसाद और शहीद सुखदेव ने साफ लिखा है कि शहर में हज्जाम का काम करने वाले कालू राम ने आजादी के लिए जंग लड़ने वालों का साथ देने की बजाय अंग्रेजी हुकूमत का साथ दिया था। उनके खोज के अनुसार क्रांतिकारियों के खिलाफ अंग्रेजों को गुप्त ठिकाने की सूचना देने वाले 19 गवाहों में से कालू राम भी शामिल था। कालू राम जानता था कि शहर में गया प्रसाद ने क्रांतिकारी पार्टी के निर्देश पर शहर के तूड़ी बाजार में ही डाक्टर बी.एस. निगम के नाम से दवाखाना खोला हुआ था।

 

कालू राम इन सब देश प्रेमियों के फिरोजपुर के गुप्त ठिकाने को छोड़ने के करीब ड़ेढ माह बाद एक दिन किसी कार्य से कार में सवार होकर सहारनपुर जा रहा था। इसी दौरान जब वह एक दुकान पर रूका हुआ था तो उसकी नजर डाक्टर निगम यानी डाक्टर गया प्रसाद पर पड़ गई और उसने उन्हें नमस्ते कही और साथ ही उनके सहारनपुर में होने की सूचना अंग्रेजों को दे दी। सूचना मिलते ही अंग्रेजों ने 13 मई 1928 के सहारनपुर के गुप्त ठिकाने चौबे परोश मौहल्ले पर छापामारी की और वहां से शिव वर्मा और जय देव को गिरफ्तार कर लिया। 2 दिन बाद जब गया प्रसाद वहां पहुंचा तो उसे जानकारी नहीं थी कि गुप्त ठिकाने पर पुलिस ने छापामार कर शिव वर्मा और जय देव को पकड़ लिया था।  गया प्रसाद जैसे ही ठिकाने पर पहुंचा तो पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: kalu ram was caught on the information revolutionary

More News From punjab

Advertisement
Advertisement
free stats