image

नई दिल्ली : केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को विजय माल्या के उस दावे को खारिज कर दिया, जिसमें भगोड़े व्यापारी ने दो वर्ष पूर्व भारत छोड़ने से पहले उनसे मुलाकात करने की बात कही है।

भगोड़े व्यापारी द्वारा लंदन की एक अदालत के बाहर यह दावा करने के तुरंत बाद जेटली ने फेसबुक पोस्ट के जरिए कहा, ‘‘मेरे संज्ञान में यह बात सामने आई है कि विजय माल्या ने सेटलमेंट ऑफर के साथ मुझसे मिलने की बात कही है। बयान पूरी तरह गलत है, क्योंकि यह सच्चाई को सामने नहीं रखता है।’’

जेटली ने कहा कि उन्होंने 2014 के बाद मुलाकात के लिए माल्या को कभी समय नहीं दिया और ‘‘मुझसे मुलाकात का प्रश्न ही नहीं उठता।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि, वह राज्यसभा का सदस्य थे और कभी-कभार संसद आया करते थे। एक बार जब मैं सदन से अपने कक्ष जा रहा था, उन्होंने विशेषाधिकार का फायदा उठाया।’’

मंत्री ने कहा, ‘‘वह तेजी से मेरी तरफ आगे बढ़े और एक वाक्य कहा कि ‘मैं सेटलमेंट का ऑफर दे रहा हूं’।’’

जेटली ने कहा कि चूंकि वह उनके पहले के झूठे वादों को जानते थे, ‘‘इसलिए मैंने उन्हें आगे बातचीत करने की इजाजत नहीं दी।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने उनसे कहा कि मुझसे बातचीत करने का कोई मतलब नहीं है और उसे अपने ऑफर को बैंकों को देना चाहिए। मैंने उनके हाथ में पकड़े पेपर तक को नहीं लिया था।’’

जेटली ने कहा कि इस एक वाक्य की बातचीत के अलावा उन्होंने कभी भी माल्या को मिलने का समय नहीं दिया।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Jaitley dismisses claim to meet Malya

Advertisement
free stats