Advertisement
image

बुराड़ी के संत नगर में 11 लोगों की मौत का रहस्यमय उलझता ही जा रहा है। इस मामले में एक कड़ी सुलझती है तो दूसरी कड़ी फिर उलझा देती है। 11 लोगों की मौत के मामले में बुधवार को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है। यह साफ हो गया है कि दस लोगों की मौत फांसी लगाने से हुई है। रिपोर्ट में किसी भी गड़बड़ी की आशंका से इनकार किया गया है, लेकिन इस बीच इन 11 मौतों के मामले में अब एक 'बीड़ी वाले बाबा' की एंट्री हो गई है। साथ ही रजिस्टर में अगली दिवाली न देख पाने जैसी बातें भी लिखी मिली हैं। जिस बाद ने मामले को फिर से उलझा दिया है।

सीनियर पुलिस अफसर के मुताबिक, उस घर के दूसरे कमरे से बरामद 77 साल की नारायण देवी के शव की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आना बाकी है। अभी तक दस लोगों की रिपोर्ट में कहा गया है कि उनकी मौत फांसी लगने के कारण हुई है और शवों पर कुछ खरोंचों के अलावा चोट के कोई निशान नहीं मिले हैं।  बुधवार को एम्स से एक फरेंसिक टीम बुराड़ी के इसी घर में जांच के लिए पहुंची थी। इस मामले को लेकर शक जताया जा रहा है कि इस परिवार ने तंत्र-मंत्र के चलते सामूहिक आत्महत्या की है लेकिन हरिद्वार में अस्थिविसर्जन के बाद दिल्ली पहुंचे ललित के बड़े भाई दिनेश ने बुधवार को एक बार फिर कहा कि परिवार आत्महत्या नहीं कर सकता, इनका साजिश के तहत मर्डर किया गया है। 

कराला में बीड़ी वाले और दाढ़ी वाले बाबा के नाम से मशहूर बाबा अपने आप को हनुमान का भक्त कहते हैं। शाम 6 बजे तक झाड़-फूंक करते हैं। चिठ्ठी में पुलिस से अपील की है कि इन मौतों के पीछे बाबा का हाथ हो सकता है इसलिए इसकी जांच की जाए। इसी कड़ी में एक किन्नर भी सामने आया। किन्नर हर मंगलवार को मरघट बाबा के दरबार पर जाते थे। वहां से प्रसाद लेकर आते थे। इसी तरह परिवार के रजिस्टर में कहा गया, वे अगली दिवाली नहीं देख सकेंगे। 

पंजाब और देश - विदेश से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक। Youtube

Web Title: in burari scandal now bidi baba entry tjhat was written in the register


advertisement
free stats