image

नई दिल्ली: फिल्म ‘बाहुबली’ के लेखक आनंद नीलकंठन को महाकाव्यों के अंदर छिपी हुई कहानियों को खोज कर सामने लाना पसंद है। उनकी नई पुस्तक ‘वानर’ में रामायण के अपराजित नायक बाली, उनकी पत्नी तारा अैर उनके भाई सुग्रीव की कहानी बयां की गई है।

यह पुस्तक सबसे पहले लघुकथा के रूप में लिखी गई थी। नीलकंठन ने तारा पर 5,000 शब्द लिखे थे, लेकिन प्रकाशक इसे पुस्तक के तौर पर प्रकाशित करना चाहता था। हालांकि, वह इसे उपन्यास बनाने को लेकर संशय में थे और इसलिए उन्होंने एक बार फिर से रामायण के विभिन्न संस्करणों को पढ़ना शुरू किया।  

नीलकंठन ने कहा, मैंने पाया कि एक महाकाव्य के अंदर एक और महाकाव्य छिपा हुआ है। बाली, तारा और सुग्रीव के किरदार को कभी विस्तार से नहीं बयां किया गया। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Hiding inside the Ramayana remarkable story of 'Apes': Anand Nilakamthana

More News From national

Advertisement
Advertisement
free stats