image

अल्बानी (अमरीका) : ब्रिटनी हाऊले को कक्षा में जब भी किसी चीज की जरूरत पड़ती उनका मददगार कुत्ता हाजिर रहता। अगर उन्हें अपने मोबाइल फोन की जरूरत होती तो इसे भी वह उन्हें ढूंढकर दे देता। यहां तक कि अपनी इंटर्नशिप के तहत जब वह मरीजों की मदद कर रही होती थीं तब भी वह बगल में दुम हिलाते हुए मंडराता रहता था।

जेटली का सिक्सर ! कुछ इस अंदाज़ में की पीएम मोदी और कोहली की तारीफ...

क्लार्कसन विश्वविद्यालय से ऑक्यूपेशनल थैरेपी में मास्टर डिग्री पूरा करने के बाद शनिवार को जब हाऊले अपना डिप्लोमा ले रही थीं तो ग्रिफिन नामक यह कुत्ता भी उनके साथ मौजूद था।

मैं प्रेस से बात करने में डरने वाला प्रधानमंत्री नहीं था : मनमोहन सिंह

हाऊले ने कहा कि स्नातक की कक्षा के पहले दिन से ही वह उसके साथ रहा। उन्होंने कहा, जो मैंने किया, इसने भी वह सब कुछ किया। पोस्टडैम न्यूयार्क स्कूल के बोर्ड ट्रस्टी ने शनिवार को ‘गोल्डन रीटरीवर’ नस्ल के चार वर्षीय इस कुत्ते को भी सम्मानित करते हुए कहा कि हाऊले की सफलता में इसने असाधारण योगदान दिया और हर वक्त साथ रहकर उनकी भरपूर मदद की। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Griffin is entitled to equal honors

More News From jara-hat-ke

free stats