image

चंडीगढ़: शिरोमणि अकाली दल ने आज कहा कि कांग्रेस पार्टी श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के प्रकाश उत्सव के पवित्र दिन पर रोष प्रदर्शन करके सिख भाईचारे के जख्मों पर नमक छिड़क रही है। यहां एक प्रैस बयान में पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि जिस तरीके से कांग्रेस ने सिख भाईचारे के सबसे पवित्र माने जाने वाले दिनों में से एक यानी कि आज के दिन देश भर में रोष प्रदर्शन करने की योजना बनाई है, वह साबित करती है कि कांग्रेस पार्टी तथा गांधी परिवार सिख धर्म, विरासत तथा संवेदनशीलता का कितना सम्मान करते हैं।

मजीठिया ने कहा कि यह बात और भी दुखदायी है कि इन प्रदर्शनों का नेतृत्व 1984 सिख कत्लेआम के दोषियों जगदीश टाइटलर तथा सज्जन कुमार जैसों ने किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी राहुल गांधी के नेतृत्व में टाइटलर को मुख्य धारा वाली राजनीति के अंदर लेकर आ रही है। अकाली नेता ने कहा कि कांग्रेस की 1984 सिख कत्लेआम में भूमिका के सबूत दस्तावेज के रूप में सामने आ चुके हैं और पूर्व प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह इसकी माफी भी मांग चुके हैं, पर इसके बावजूद राहुल गांधी यह सब कर रहा है।

उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि राहुल गांधी टाइटलर व सज्जन के दबाव में इतिहास को दोबारा लिखने की कोशिश कर रहा है। यही वजह है कि इन दोनों व्यक्तियों को पैट्रोलियम उत्पादों के मुद्दे पर रोष-प्रदर्शनों में भाग लेने तथा नेतृत्व करने की अनुमति देकर उन्हें पार्टी में अहम स्थान दिया जा रहा है। मजीठिया ने कहा कि पार्टी टाइटलर, सज्जन तथा सिख कत्लेआम के दूसरे आरोपियों को सजा दिलाने की अपनी जंग जारी रखेगी और उन्हें इस घिनौने अपराध के लिए सजा दिलाकर ही दम लेगी।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Fury performance lighting celebration of Sri Guru Granth Sahib Salt on the wounds of Sikhs: Majithia

Advertisement
free stats