image

मास्को : रुस में फीफा विश्व कप चल रहा है। पहले सेमिफाइनल में फ्रांस ने बेल्जियम को हरा दिया है। अब दूसरे सेमिफाइनल की विजेता टीम फाइनल में फ्रांस के साथ भिड़ेगी। वैसे इस विश्व कप का विजेता चाहे जो मर्जी बने, लेकिन थाईलैंड में बाढ़ग्रस्त गुफा से बचाये गए बच्चों को शीर्ष फुटबालरों ने नायक करार दिया है। ये बच्चे अब स्टेडियम में पहुंचकर विश्व कप फाइनल नहीं देख पाएंगे। ‘वाइल्ड बोर्स टीम’ के इन युवा फुटबालरों के दो सप्ताह तक गुफा में फंसे रहने के बाद कल सुरक्षित बाहर निकाले जाने पर फुटबाल जगत ने भी राहत की सांस ली।

READ NEWS : मैरीकॉम ने देश के लिए बच्चों का ये हक छीना, कहा- इस बात पर मुझे है गर्व

पॉल पोग्बा ने तो फ्रांस की बेल्जियम के खिलाफ सेमीफाइनल में जीत को इन बच्चों को समर्पित किया। पोग्बा ने ट्विटर पर बच्चों की फोटो डालकर लिखा,‘‘ यह जीत आज के नायकों को समर्पित। शाबाश लड़कों। तुम बहुत मजबूत हो। ’’ इंग्लैंड के डिफेंडर काइल वाकर ने क्रोएशिया के खिलाफ सेमीफाइनल मैच से पहले बच्चों के सुरक्षित बाहर निकलने पर खुशी जतायी और उन्हें फुटबाल शर्ट भेजने की पेशकश की।

READ NEWS : अनुष्का ने सरेआम विराट को किया किस तो भारतीय कप्तान रोक न पाए अपने जज्बात, लिखी ये बात

वाकर ने ट्वीट किया, ‘‘ बहुत अच्छी खबर है कि थाईलैंड के सभी बच्चों को गुफा से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। मैं उन्हें शर्ट भेजना चाहूंगा। क्या कोई उनका पता मुहैया कराने में मदद कर सकता है।’’ गौर हो कि कुल 12 बच्चे और उनका 25 वर्षीय कोच 23 जून को फुटबाल अभ्यास के बाद गुफा के अंदर चले गये थे, लेकिन बाढ़ का पानी बढ़ने के कारण वे बाहर नहीं निकल पाये थे। आखिर में विभिन्न देशों के नेवी सील ने उन्हें बाहर निकाला।

READ NEWS : दोनों बहनों के साथ लिव इन में था गैंगस्टर दिलप्रीत, इस बात की नहीं थी दोनों को भनक

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: football players said children who came safe from thai cave are real hero

Advertisement
free stats