image

नई दिल्लीः दिल्ली में इस साल दीपावली पर पटाखों की वजह से आग लगने की 300 से अधिक घटनाएं सामने आईं जिनमें एक मामले में दो बच्चों की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गये। आधिकारिक सूत्रों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

दिल्ली अग्निशमन सेवा के एक अधिकारी ने बताया कि उनके कार्यालय में दीपावली की आधी रात तक रिकॉर्ड संख्या में 271 आग लगने की सूचनाएं आईं और बृहस्पतिवार को सुबह आठ बजे तक 74 ऐसे फोन और आये। उन्होंने बताया कि हालांकि बीते साल की तुलना में इस साल अधिक फोन आये पर पटाखों की वजह से आग लगने की घटनाओं में कमी आई है। इसके पूरे आंकड़े अभी आने शेष हैं। दिल्ली अग्निशमन सेवा को बीते साल 204 फोन कॉल्स आईं थीं।

सदर बाजार क्षेत्र में फिल्मिस्तान सिनेमा के पास बनी झुग्गियों में एक दर्दनाक घटना में दो बच्चों - दस साल के गणेश और आठ साल की स्वाति की मौत हो गई। उनकी मां सुमन 28, पचपन फीसदी और पांच साल का भाई ध्रुव 70 फीसदी तक जल गये हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इस घटना में संभवतया आग देर रात के बाद दो बजकर 18 मिनट पर रसोई गैस के सिलेंडर से लगी और उनकी झुग्गी में फैल गई। एक अन्य घटना में बवाना इलाके में बनी एक फैक्टरी में आग लग गई। यहां पर दमकल की 18 गाड़ियों को भेजा गया।

उन्होंने बताया दिल्ली के पश्चिमी और उत्तरपश्चिम जिलों से सबसे अधिक कॉल्स आईं। उन्होंने कहा, ‘‘बीते साल पटाखों की बिव्री पर प्रतिबंध लगा था पर हमें करीब 200 फोन कॉल्स आये। इस साल पटाखे फोड़ने पर रोक थी और केवल हरित पटाखों की बाजार में बिक्री की अनुमति थी लेकिन तब भी आग लगने के मामलों को लेकर बार बार फोन कॉल्स आते रहे।’’   

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Fire at 300 places in the country on Diwali, painful death of 2 children

More News From national

Advertisement
Advertisement
free stats