image

बेल्जियम के कोच राबर्तो मार्तिनेज ने फ्रांस के हाथों विश्व कप सेमीफाइनल में एक गोल से मिली हार के बाद कहा कि तकदीर ने उनकी टीम का साथ नहीं दिया।  मार्तिनेज ने कहा ,‘‘ यह काफी कड़ा मुकाबला था। इसमें कोई बड़े निर्णायक पल नहीं आये। एक एक खराब पल ने सब कुछ बदल दिया।’’ उन्होंने कहा ,‘‘फ्रांस के डिफेंस को श्रेय जाता है जिसने हमें इतने मूव के बावजूद गोल नहीं करने दिया। हमारी किस्मत ने साथ नहीं दिया, बस यही फर्क था।’’ उन्होंने कहा,‘‘ इस हार के बावजूद मुङो अपने खिलाड़यिों पर गर्व है। मैं फ्रांस को बधाई देता हूं और फाइनल के लिये शुभकामना भी ।’’ बेल्जियम ने क्वार्टर फाइनल में खिताब की प्रबल दावेदार ब्राजील को हराया था।

आपको बता दें कि फ्रांस की टीम तीसरी बार विश्व कप के फाइनल में जगह बनाने में सफल रही है। टीम ने 1998 में अपनी ही मेजबानी में हुए विश्व कप फाइनल में ब्राजील को हराकर खिताब जीता था लेकिन 2006 के फाइनल में इटली से हार गई थी। फ्रांस की टीम अब 15 जुलाई को होने वाले फाइनल में इंग्लैंड और व्रोएशिया के बीच कल होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से भिड़ेगी।

बेल्जियम के खिलाफ विश्व कप के तीन मैचों में यह फ्रांस की तीसरी जीत है। इससे पहले प्रांस ने 1938 में पहले दौर का मुकाबला 3-1 से जीतने के बाद 1986 में तीसरे दौर के प्ले आफ मैच में 4-2 से जीत दर्ज की। इसके साथ ही बेल्जियम का 24 मैचों का अजेय अभियान भी थम गया। इस दौरान उसने 78 गोल किए और आज के मैच से पहले सिर्फ एक मैच में टीम गोल नहीं कर पाई। बेल्जियम की टीम हालांकि विश्व कप में अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ विदा हुई और अपने प्रदर्शन से लोगों का दिल जीतने में सफल रही।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: fifa 2018 belgium coach said destiny did not support our team

Advertisement
Advertisement
Advertisement
free stats