image

इन दिनों चीन और अमेरिका के बीच अशांत का माहौल बना हुआ है। व्हाइट हाउस के सबसे पहले चीन के खिलाफ व्यापार युद्ध छेड़ने के बाद अमेरिकी फेडरल रिजर्व के पूर्व अध्यक्ष एलन ग्रीनस्पैन और अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार के विजेता पॉल आर क्रुगमैन आदि लोगों ने क्रमशः ट्रम्प की नीति की निंदा की। लेकिन व्हाइट हाउस ने इसे अनदेखा कर चीन के खिलाफ़ 2 खरब डॉलर की वस्तुओं पर और 10 प्रतिशत का टैरिफ़ वसूला। युद्ध का स्तर लगातार उन्नत हो रहा है। अमेरिकी सीनेट को बहुमत से एक प्रस्ताव पारित कर ट्रम्प से अधिक टैरिफ़ वसूलने के समय संसद की पुष्टि प्राप्त करने की मांग की।  

  वहीं, चीन एक तरफ़ अमेरिका के व्यापार युद्ध के स्तर की उन्नति को लेकर गंभीर रुप से मामला उठाया और आवश्यक विरोधी कदम उठाने को बल दिया। दूसरी तरफ़ चीन ने बाज़ार के खुलेपन को लगातार विस्तार करने का कदम भी उठाया। चीन अपने निश्चित कदम के चलते आगे बढ़ रहा है। क्योंकि चीन को पक्का विश्वास है कि चाहे व्हाइट हाउस की स्थिति कैसी भी रहे, चीन खुद के काम को अच्छी तरह करता रहेगा। यह अमेरिका द्वारा छेड़े गये व्यापार युद्ध के जवाब में सबसे शक्तिशाली हथियार है।

   वर्तमान में चीन के खुद के काम को अच्छी तरह करने का मतलब देश में उच्च गुणवत्ता वाले विकास साकार करना और दिन ब दिन बढ़ रही सुनहरे जीवन के प्रति जनता की मांग को निरंतर संपूर्ण करना है। इसके साथ ही बड़े देश के रूप में अपनी भूमिका निभाते हुए मानव जाति के साझे भाग्य समुदाय के निर्माण को आगे बढ़ाना है। इस तरह चीन अमेरिका द्वारा छेड़े गये व्यापार युद्ध को अपने विकास के रास्ते में “बढ़ती परेशानी” मानता है।

  चीन और अमेरिका के बीच हुए व्यापार युद्ध की दीर्घकालिकता, जटिलता और कठोरता के प्रति चीन तैयार है। युद्ध के बादल हटाने के लिए चीन के पास पक्का विश्वास है। अपने विकास के दौरान चीन ने देखा है कि खुद के काम को अच्छी तरह करना, सुधार और खुलेपन का लगातार विस्तार करना विभिन्न प्रकार के हस्तक्षेप का बहिष्कार करना, राष्ट्रीय विकास को बखूबी अंजाम देना और विश्व शांति व विकास को आगे बढ़ाने की सदैव प्रेरक शक्ति है।

(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: doing job yourself china trade war

More News From international

Advertisement
Advertisement
free stats