image

जालंधर : आबू में फंसे पंजाबी युवकों से लाखों रुपए छीन कर फिल्लौर व चंडीगढ़ के ट्रैवल एजैंट का पाकिस्तानी कारिंदा गायब हो गया। एक-एक कर इस पाकिस्तानी एजैंट के खिलाफ अंबैसी में शिकायतें आई थीं। इसके बाद पुलिस को अलर्ट कर दिया गया था जबकि उसके बाद से पाकिस्तानी कारिंदा तारीक उर्फ जिम्मी गायब हो गया। इसी कारिंदे ने लुधियाना व नकोदर के करीब आधा दर्जन युवकों से एयरपोर्ट से ही लाखों रुपए व पासपोर्ट छीन लिए थे। पैसे न देने की सूरत पर पाकिस्तानी कारिंदे पर मारपीट के भी आरोप लगाए गए थे।
दैनिक सवेरा ने फर्जी ट्रैवल एजैंटों के खिलाफ शुरू की इस मुहिम में जगजीत सिंह निवासी लुधियाना, प्रवीण कुमार निवासी गोराया व भूपिंदर सिंह निवासी वडाला मंझकी ने सवेरा भवन आकर खुलासा किया था कि फिल्लौर व चंडीगढ़ स्थित वे टू अबरोड के ट्रैवल एजैटों ने उनको बाकु (एशिया नजदीक स्थित एक टापू) में वर्क परमिट पर भेजा था लेकिन वहां एयरपोर्ट पर उतरते ही उन्हें उनके एजैंट का कारिंदा जिम्मी मिला जो पाकिस्तानी है। उसने एयरपोर्ट से ही तीनों से 600-600 डॉलर ले लिए और पासपोर्ट भी छीन लिए। उसके बाद भी जिम्मी ने उनसे पैसे लिए व बाद में गायब हो गया। नकोदर के तजिंदर व सुनील के साथ भी ऐसा ही हुआ था जो वे टू अबरोड के ट्रैवल एजैंटों ने आबू भेजे थे। जिम्मी ने वहां उनसे पैसे छीन लिए और पासपोर्ट भी अपने पास रख लिया। किसी तरह ये युवक अपनी जान बचा कर वापस आ गए लेकिन और भी पंजाबी युवकों से पैसे लेने की सूचना जब अंबैसी को मिली तो वहां की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया। खुद को फंसते देख पाकिस्तानी जिम्मी वहां से गायब हो गया।
जानकारी यह भी मिली है कि इस जिम्मी नाम के कारिंदे के कुछ आतंकी संगठनों से भी संबंध हैं। इस बारे में जब वे टू अबरोड के ट्रैवल एजैंटों से बात की गई तो उन्होंने पल्ला झाड़ते हुए पाकिस्तानी जिम्मी से कोई भी संबंध होने से इंकार किया था लेकिन हाल में ही आबू में फंसे रामामंडी का युवक भी जिम्मी का शिकार बना। बताया जा रहा है कि जिम्मी ने इस युवक के घर पर फोन कर उन्हें भी गालियां निकाली थीं व धमकाया था। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: disappeared from punjab stranded in abu bakr

free stats