Advertisement
image

ज्योतिषीय विश्लेषण के लिए हमारे शास्त्रों मे कई  सूत्र दिए हैं। भाव:कुंडली के पहले, दसवें तथा ग्यारहवें भाव और उनके स्वामी से सरकारी नौकरी के बारे मैं  जान सकते हैं। सूर्य. चंद्रमा व बृहस्पति सरकारी नौकरी मै उच्च पदाधिकारी बनाता है। भाव: द्वितीय, षष्ठ एवं दशम्‌ भाव को अर्थ-त्रिकोण सूर्य की प्रधानता होने पर  सरकारी नौकरी प्राप्त करता है। नौकरी के कारक ग्रहों का संबंध सूर्य व चन्द्र से हो तो जातक सरकारी नौकरी पाता है।

कुंडली के अनुसार सरकारी नौकरी  के लिए  योग :

-  दसवें भावमें शुभ ग्रह होना  चाहिए। 

-  दसवें भाव में सूर्य तथा मंगल एक साथ होना चाहिए। 

- पहले, नवें तथा दसवें घर में शुभ ग्रहों को होना चाहिए।

पंजाब और देश - विदेश से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक। Youtube

Web Title: click here to know when you will get government jobs


advertisement
free stats