Advertisement
image

चीनी मौसम ब्यूरो से प्राप्त खबर के अनुसार 10 जुलाई को चीन-अरब सहयोग मंच की 8वीं मंत्री स्तरीय मीटिंग में यह प्रस्तुत किया गया है कि अरब देशों की सेवा में चीनी मौसम रिमोट सेंसिंग उपग्रह तकनीक का प्रयोग किया जाएगा।

     पता चला है कि अरब देशों में अधिकांश एक पट्टी एक मार्ग के तटस्थ देश हैं। पर इस मार्ग के तटस्थ देशों में आपदाओं की संख्या विश्व की औसत मात्रा से दो गुणा अधिक है। इन देशों में विशाल रेगिस्तान, महासागर, पठार और पहाड़ जैसे आबादी-रहित क्षेत्र फैले हैं, जहां मौसम पूर्वानुमान की सेवा कमजोर है। चीन के मौसम उपग्रह इन क्षेत्रों की मौसम पूर्वानुमान सेवा में मदद दे सकते हैं।

     पता चला है कि आज तक अंतरिक्ष में कुल 8 चीनी मौसम उपग्रह चल रहे हैं। चीनी मौसम उपग्रह की मदद से सभी अरब देशों को वायुमंडल, भूमि और महासागर के सैटेलाइट रिमोट सेंसिंग डेटा प्राप्त हो सकेंगे। इनमें कुछ देशों को उच्च आवृत्ति मौसम निगरानी की सेवा भी प्राप्त हो सकेगी।

(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

 

पंजाब और देश - विदेश से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक। Youtube

Web Title: chinese remote technology arab countries


advertisement
free stats