image

वो जमाने लद गए, जब पढ़ाने के लिए एक क्लास रूम होता था और बच्चों को वहां बिठाकर पढ़ाया जाता था। बदलते जमाने में पढ़ने और पढ़ाने के तरीकों में भी काफी बदलाव आया है। आज के समय में टैक्नोलॉजी के विस्तार के कारण अब एक देश में बैठकर दूसरे देश में भी पढ़ाया जा सकता है। जी हां, इंटरनैट क्रांति के इस युग ने ई-ट्यूटरिंग के कान्सैप्ट को बढ़ावा दिया है। अगर आपको भी बच्चों को पढ़ाना अच्छा लगता है लेकिन पारिवारिक जिम्मेदारियों के चलते आप बच्चे को नहीं पढ़ा पाते तो आप बतौर ऑनलाइन ट्यूटर न सिर्फ अपने शौक को जिन्दा रख सकते हैं, बल्कि इसमें करियर के नए आयाम भी ढूंढ सकते हैं।

 होते हैं सिर्फ फायदे ही फायदे
ऑनलाइन ट्यूशन पढ़ाने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें आप अपने ज्ञान को सिर्फ अपने शहर तक ही सीमित नहीं रखते, बल्कि देश के विभिन्न भागों यहां तक कि विदेशों में भी अपना ज्ञान बांट सकते हैं। इसके अतिरिक्त यह उन लोगों के लिए भी काफी अच्छा ऑप्शन है, जो अपने पारिवारिक जिम्मेदारियों के चलते नौ से पांच की जॉब नहीं कर पाते। बतौर ऑनलाइन ट्यूटर आप पार्ट टाइम या फुल टाइम काम कर सकते हैं। चूंकि इसमें काम की टाइमिंग काफी फ्लैक्सिबल होती हैं, इसलिए आपका शेष दूसरा काम प्रभावित नहीं होता। अगर आप किसी दूसरे देश के बच्चे को पढ़ा रहे हैं तो आप काफी अच्छे पैसे कमा सकते हैं क्योंकि बाहरी देशों में प्राइवेट ट्यूशन काफी महंगी होती है, इसलिए वहां के लोग ऑनलाइन ट्यूशन के ऑप्शन को ज्यादा पसंद करते हैं क्योंकि उन्हें इस सेवा में कम पैसे खर्च करने पड़ते हैं। जबकि आप भारत में रहकर डॉलर में कमाते हैं तो आपको काफी अच्छा पैसा मिलता है।

स्किल्स : अगर आप ऑनलाइन ट्यूटर बनने पर विचार कर रहे हैं तो आपके भीतर कुछ क्वालिटी होना बेहद आवश्यक है। सबसे पहले तो आपको अपने विषय की अच्छी समझ होनी चाहिए, ताकि पढ़ाते समय आपको किसी तरह की परेशानी न हो। इसके अतिरिक्त आपको यह भी समझना होगा कि दूसरे देशों की पढ़ाई और वहां के सिलेबस में काफी अंतर होता है। इसलिए आपको उसे भी समझना और अपनाना होगा। इसके अतिरिक्त ऑनलाइन ट्यूटर का सारा काम कम्प्यूटर के कारण होता है, इसलिए आपको उसे भी अच्छे से चलाना आना चाहिए। विभिन्न वीडियो कॉलिंग साइट्स, वैब कैमरा आदि चीजों को प्रयोग करना भी सीखें। इस क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने के लिए जरूरी है कि आपको हिन्दी व अंग्रेजी के अतिरिक्त विभिन्न भाषाएं बोलनी, पढ़नी व लिखनी आती हों। इससे आपको दूसरे देश के बच्चों को पढ़ाने में आसानी हो। 

योग्यता : ऑनलाइन ट्यूटर बनने के लिए आपका संबंधित विषय में मास्टर की डिग्री होनी चाहिए। साथ ही जिस विषय के बारे में आप पढ़ाना चाहते हैं, उसका विशेष रूप से ज्ञान होना चाहिए। वहीं, अगर आपको पहले से ही टीचिंग एक्सपीरियंस है तो आपको काम मिलने में आसानी होगी। 

कार्यक्षेत्र : इस क्षेत्र में एक ट्यूटर का मुख्य काम सबसे पहले छात्र की कमियों व उसकी स्टैंथ को समझना होता है। साथ ही हर बच्चे के सीखने का तरीका अलग होता है। इसलिए आपको उसे समझकर उसे एकैडमिक सपोर्ट तो देना होता है ही, साथ ही अपने स्किल्स व विभिन्न ऑनलाइन टूल्स का प्रयोग करके उसकी परफार्मैस को बेहतर बनाना होता है। 

अवसर अनेक : आजकल ऑनलाइन क्लासेज का चलन काफी बढ़ गया है। अमूमन हर ट्रेनिंग कंपनी, कॉलेज, यूनिवर्सिटी आदि में ऑनलाइन क्लासेज मुहैया कराई जाती है, जिसके कारण इन दिनों ऑनलाइन ट्यूटर की काफी डिमांड है। यहां तक कि ट्यूशन सैंटर भी बच्चों को ऑनलाइन क्लासेज की सुविधा देते हैं। इतना ही नहीं, इंटरनैट पर आपको ऐसी कई वैबसाइट मिल जाएंगी जो विभिन्न विषयों व कक्षाओं के लिए कई भाषाओं में टीचर प्रोवाइड कराती हैं। आप उनके साथ जुड़कर भी अपनी सेवाएं दे सकते हैं।

आमदनी : इस क्षेत्र में आमदनी इस आधार पर निर्भर है कि आप इसे पार्ट टाइम कर रहे हैं या फुल टाइम। इसके अतिरिक्त कंपनी का प्रोफाइल, आपका अनुभव, सब्जैक्ट व आप किस कक्षा के विद्यार्थी को पढ़ा रहे हैं, यह भी आपकी आमदनी को प्रभावित करता है। शुरुआत में एक ऑनलाइन ट्यूटर 200 रुपए से लेकर 500 रुपए प्रतिघंटा कमा सकता है। वहीं थोड़े अनुभव के बाद आप 2500 प्रतिघंटा भी चार्ज कर सकते हैं। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: can become a online tutor earn millions by sitting at home

Advertisement
Advertisement
Advertisement
free stats