image

नई दिल्ली : हमारे देश में धर्म के नाम पर लोगों को ठगना कोई नई बात नहीं है। धर्म का इस्तेमाल कर लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करना। उनकी अास्था और विश्वास का अपने के लिए कब और कैसे फायदा उठाना है वो इन ढोंगी बाबाओं को पता होता है। आसाराम बापू, गुरमीत राम रहीम, वीरेंद्र दीक्षित, दाती महाराज और नब्बे भगत बाबा के बाद अब बाबा आशु का नाम सामने आया है। इस ढोंगी पर एक महिला और उसकी नाबालिग बेटी का कई वर्षों तक यौन शोषण करने का आरोप लगा है। विश्वविख्यात ज्योतिषचार्य और हस्तरेखा विशेषज्ञ होने का दावा करने वाले आशु बाबा का असली नाम आसिफ खान है। यह बेहद ही शातिर बाबा है। आशु बाबा के आशु गुरुजी बनने की कहानी काफी रोचक है। आइये जानते हैं कैसे इस बाबा ने आसिफ खान से आशु गुरु बनकर लोगों को धोखा दिया।  

करोड़ों की कारों का मालिक है आसिफ

1990 तक दिल्ली के वजीरपुर स्थित जेजे कॉलोनी में रहने वाला आशु इस समय करोड़ों का मालिक है। अब इसके पास तो केवल करोड़ों रुपयों की कारें ही हैं। एेसा कहते हैं कि सराय रोहिल्ला थाना के पदम नगर इलाके में इसने अपना धंधा शुरू किया। एक दिन फिर अचानक उसने वहां से अपना काम बंद कर दिया। आसिफ खान का प्रीतम पुरा के तरुण एंकलेव में मकान और रोहिणी सेकटर 7 बी 4/77-78 में ऑफिस है। इस ऑफिस में वह सुबह 4 से 8 बजे वह लोगों से मिलता है। इसके अलावा, दक्षिण दिल्ली के हौजखास में भी उसका एक ऑफिस है।

एक मुलाकात के लिए लेते हैं मोटी फीस

आशु गुरुजी बनकर टीवी चैनलों पर लोगों की हर तरह की समस्याओं का समाधान करने का दावा करता है। अक्सर कार्यक्रम के दौरान दिखाया जाता है कि एक रिक्शा चालक कैसे आशु भाई के दिए रतन के चलते कई ट्रकों का मालिक बन गया। यह तो नमूना भर है। आशु मुलाकात के लिए मोटी फीस लेता है। उपाय आदि के नाम पर ली जाने वाली रकम की तो कोई सीमा नहीं है। आशु भूत-प्रेत की छाया से बचाने और काल सर्प दोष आदि का उपाय करने का दावा भी करता है। यही नहीं नामी ज्योतिषाचार्य मानते हैं कि शास़्त्रों में काल सर्प का कहीं भी उल्लेख नहीं है। बाजवूद इसके आशु बाबा कालसर्प को दूर करने के उपायों का नाम लेकर परेशान लोगों से मोटी रकम ले लेता है।

नशीला पेय पिलाकर बेटी से किया गैंगरेप

ढोंगी बाबा ने महिला से इलाज के लिए बेटी को रोहिणी स्थित आश्रम में लाने के लिए कहा। एेसा आरोप है कि बाबा बच्ची को निर्वस्त्र कर उसकी मालिश करता था। यह सिलसिला साल 2013 तक चलता रहा। पीड़िता वर्ष 2013 में दिवाली पर बाबा के रोहिणी स्थित आश्रम में गई थी, जहां आश्रम के मैनेजर ने नशीला पेय पिलाकर बाबा व उसके साथियों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। दक्षिणी दिल्ली के हौज खास थाने में महिला ने बाबा के साथ ही उसके बेटे व दोस्त पर भी आरोप लगाए हैं। पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Big revealing, Ashu baba's real name is Asif Khan

More News From national

Advertisement
Advertisement
free stats