image

आगामी लोकसभा चुनाव में जीत के मकसद से कांग्रेस पार्टी ने किसानों को साधने की रणनीति तैयार की है। इसके लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की है जो किसानों की समस्याओं पर अपनी रिपोर्ट तैयार कर उसे मेनिफेस्टो में शामिल करवाने का काम करेगी। 

मंगलवार को चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस आगामी लोकसभा चुनाव में किसानों के कर्ज माफी के प्रस्ताव को मंजूरी दे चुकी है और पार्टी के घोषणापत्र में इसे विधिवत रूप से शामिल किया जाएगा।

मेनिफेस्टो को तैयार करने को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आज चंडीगढ़ में   पंजाब किसान भवन में पंजाब और हरियाणा से जुड़ी किसान यूनियन के पदाधिकारियों से बातचीत कर उनकी समस्याएं जानी। इस दौरान प्रमुखता से किसान कर्ज माफी पर चर्चा हुई। साथ ही किसानों को फसलों का भाव स्वामीनाथन द्वारा सुझाए गए सी टू फार्मूले के आधार पर देने की मांग। 

पराली के समाधान के लिए उपकरण देने की मांग और आवारा पशुओं की समस्या के समाधान पर विशेष तौर पर चर्चा हुई। किसान यूनियन के पदाधिकारियों के साथ हुई बैठक में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और हरियाणा सरकार की भावांतर योजना को पूरी तरह से फेल बताया। बैठक में इन दोनों योजनाओं को निजी कंपनियों को फायदा पहुंचाने के मकसद से लागू करना बताया। 

कांग्रेस द्वारा मेनिफेस्टो में किसानों की समस्याएं को शामिल करने के लिए गठित कमेटी देश भर में 8 से 10 जगहों का भ्रमण करेगी जिसके तहत आज पहला भ्रमण पंजाब और हरियाणा के किसान यूनियन से किया गया था। आगामी 12 अक्टूबर को पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के खैर और 15 अक्टूबर को मिर्जापुर में जाकर किसानों की दिक्कतें सुनेंगेे। कमेटी में पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा के अलावा हिमाचल कांग्रेस की प्रभारी और राज्यसभा सांसद रजनी पाटील, कांग्रेस नेता ललितेश तिवारी और राजीव गौड़ा शामिल है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Bhupinder Singh Hooda has listened to their problems

More News From haryana

Advertisement
Advertisement
Advertisement
free stats