image

जकार्ता: भारत को एशियाई खेलों के इतिहास में पहला बैडमिंटन स्वर्ण पदक दिलाने की उम्मीदें मंगलवार को पीवी सिंधू की चीनी ताइपे की ताई जू यिंग के हाथों 0-2 की शिकस्त के साथ टूट गयीं। हालांकि स्टार शटलर ने देश को एशियाड में पहला रजत पदक जरुर दिला दिया। 18वें एशियन गेम्स में महिला एकल फाइनल में विश्व की नंबर एक खिलाड़ी ताई के हाथों तीसरी वरीय सिंधू को लगातार गेमों में 13-21, 16-21 से 34 मिनट में शिकस्त मिली। इसी के साथ सिंधू को रजत पदक से संतोष करना पड़ा है।  भारतीय खिलाड़ी सिंधु भले ही स्वर्ण से चूक गई हो, लेकिन उन्होंने एक नई उपलब्धि अपने नाम की है।

पीवी सिंधू के सिल्वर मेडल जीतने पर अमित शाह ने भी ट्वीट कर बधाई देते हुए कहा है, " ऐतिहासिक ! बहुत खूब खेली पीवी सिंधू। भारत को महिला बैडमिंटन सिंगल में अपना पहला रजत पदक जीतने के लिए बधाई। यह गर्व का क्षण है।


खेल मंत्री राज्वर्धन राठौर ने पीवी सिंधू की जीत पर बधाई देते हुए कहा है, हमारे प्रसिध्द शटलर, पीवी सिंधु ने बैडमिंटन में भारत का पहला रजत हासिल कर लिया है। एक ऐसा मुकाबला जो बैडमिंटन के इतिहास में रहेगा। हैट्स ऑफ टू यू, पीवी सिंधू


पीवी सिंधू एशियाई खेलों में इस प्रतियोगिता की किसी भी स्पर्धा में रजत पदक जीतने वाली एकमात्र भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई हैं। यिंग ने शुरुआत से ही सिंधु पर दबाव बनाना जारी रखा हुआ था। यिंग ने पहले ही सिंधु को 5-0 से पछाड़ दिया। अपनी फुर्ति से सिंधु के खिलाफ आक्रामक खेल खेलते हुए चीनी ताइपे की खिलाड़ी ने पहला गेम केवल 16 मिनटों के भीतर 21-13 से जीत लिया। दूसरे गेम में भी सिंधु को यिंग के खिलाफ कमजोर देखा गया। वह 9-6 से पिछड़ रही थीं। इस बीच, सिंधु ने एक अंक लेकर यिंग की बढ़त को कम करने की कोशिश की लेकिन वह असफल रही और दूसरा गेम 18 मिनटों में 16-21 से हार गई।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Asian Games 2018 - PV Sindhu becomes first Indian women to won Silver Medal in Badminton

More News From asian-games

free stats