image

मुंबईः बालीवुड के मशहूर संगीतकार अनु मलिक के वकील ने आज कहा कि ‘मी टू’ अभियान का इस्तेमाल उनके मुवक्किल के चरित्र हनन के लिए किया जा रहा है।  मलिक पर गायिका श्वेता पंडित ने एक दिन पहले ही आरोप लगाया था कि उन्होंने जब हिंदी संगीत जगत में कदम रखा था तो मलिक ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया। श्वेता ने अनुमलिक को ‘‘ बच्चों का यौन उत्पीड़क और यौन शिकारी’’ बताया था।

अनु मलिक ने इन आरोपों का खंडन किया है। मलिक के वकील जुल्फिकार मेनन ने मीडिया को दिये बयान में कहा, ‘‘मेरे मुवक्किल के खिलाफ लगे आरोप का दृढता से इंकार किया जाता है यह पूरी तरह गलत और आधारहीन हैं।’’ उन्होंने कहा, ’’अनु मलिक ‘मी टू’ अभियान का सम्मान करते हैं लेकिन इसका इस्तेमाल चरित्र हनन के मकसद से करना बेतुका है।’’ 

अनु मलिक पर आरोप लगाने वाली श्वेता इन दिनों टीवी कार्यव्रम ’’इंडियन आइडल’’ में निर्णायक बनी हैं। बीते सप्ताह एक अन्य गायिका सोना महापात्रा ने भी अनु मलिक पर यौन शोषण के आरोप लगाते हुये उन्हें ‘‘आदतन यौन शिकारी’’ बताया था। मलिक इस आरोप का भी खंडन कर चुके हैं।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Anu Malik's lawyer's statement is being done for the abduction of the character

More News From maharashtra

free stats