image

नई दिल्ली: तूतीकोरीन में स्टारलाइट कॉपर का प्लांट बंद होने से फॉस्फोरिक और सल्फ्यूरिक एसिड के दाम में तेजी आई है। इसका रसायन एवं उवर्रक उद्योग पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है, कंपनी के शीर्ष अधिकारी ने यह बात कही। बता दें कि वेदांता के स्वामित्व वाली कंपनी की तमिलनाडु स्थित इकाई को मई में सरकार के आदेश के बाद बंद कर दिया गया था।

Read News: शानदार शतक के साथ 5 हजारी क्लब में पुजारा ने की एंट्री

 स्टरलाइट कॉपर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सीईओ पी रामनाथ ने कहा, "पिछले छह महीने में सल्फ्यूरिक एसिड के दाम 3,000 रुपये प्रति टन से बढ़कर 12,000 रुपये प्रति टन हो गये हैं। इसमें 300 प्रतिशत चार गुना की वृद्धि हुयी है। वहीं, फॉस्फोरिक एसिड की कीमत 43,000 रुपये से बढ़कर 53,000 रुपये प्रति टन हो गये। इसमें 23 प्रतिशत की वृद्धि हुई।"

Read News: नए साल से पहले टोयोटा मोटर्स लेकर आई ये जबरदस्त ऑफर, जल्द उठाएं फायदा

उन्होंने कहा कि देश में सल्फ्यूरिक एसिड की मांग का 80 से 90 प्रतिशत तूतीकोरिन संयंत्र से पूरा होता है और यह फॉस्फोरिक एसिड की 15 प्रतिशत मांग को पूरा करता है। इस संयंत्र के बंद होने से कीमतों में भारी तेजी दर्ज की गयी है।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: 4-fold increase in price of sulfuric acid due to closure of Tuticorin plant

More News From business

free stats