image

शिमला : हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय ने 108 एंबुलेंस सेवाकर्मियों की कल से जारी हड़ताल को अवैध करार देते हुए आज कर्मचारियों को अपने कार्य पर वापस जाने का आदेश दिया।
  कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश संजय करोल और न्यायाधीश संदीप की खंडपीठ ने यह आदेश स्वत:स्फूर्त संज्ञान लेते हुए दिया। 
  न्यायाधीशों ने आदेश में कहा, हम मानते हैं कि इसीके साथ कर्मचारियों की जायज शिकायतों को सुना जाना चाहिए। राज्य और जीवीके इमरजेंसी मैनेजमेंट एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट को निर्देश दिया जाता है अदालत के आदेश से चालकों, तकनीशियनों और उनकी यूनियनों को अवगत करायें।  

अदालत के आदेश में यह भी कहा गया है कि आदेश का उल्लंघन अदालत की अवमानना माना जायेगा और उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी। 
 प्रकरण में अगली सुनवाई कल होगी। सरकार ने पहले ही आवश्यक सेवा देखभाल कानून लागू कर चुकी है।
  108 और 102 आपातकालीन सेवाओं के कर्मचारियों ने कल से हड़ताल शुरु की थी। कर्मचारी पहले जून में हड़ताल कर चुके हैं। 

तब कंपनी जीवीके-ईएमआरआई ने 63 कर्मचारियों को निकाल दिया था। लेकिन दस दिन की हड़ताल के बाद सरकार, कंपनी के प्रतिनिधियों, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक और श्रम आयुक्त की उपस्थिति में समझौता हुआ था जिसमें कंपनी ने कर्मचारियों की सारी मांगें मानी थीं। 
  हालांकि यूनियनों का आरोप है कि उन्हें सिर्फ आश्वासन मिले और मांगें मानी नहीं गईं। 

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: 108 Ambulance Service workers strike illegal : High Court

free stats