image

लखनऊः  लोकसभा चुनाव के लिये उत्तर प्रदेश की 80 सीटों पर समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने गठबंधन का ऐलान किया गया है। मायावती ने कहा कि हमने गेस्ट हाऊस कांड को भी भुलाकर गठबंधन करने का ऐलान किया है। मायावती ने कहा हमारे गठबंधन करने का मकसद बीजेपी को पूरे देश और खासकर उत्तर प्रदेश से बाहर करना है। मायावती ने कहा कि हमारा गठबंधन भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को सफल नहीं होंने देंगे।

 इतनी सीटों पर हुआ बंटवारा

मायावती ने कहा कि आनेवाले लोकसभा चुनावों के लिए 38 सीटों पर बसपा और 38 सीटों पर सपा चुनाव लड़ेगी। इसके अलावा बची शेष दो सीटें हमने कांग्रेस के लिए छोड़ दी है। यह दो शेष सीटें अमेठी और रायबरेली की है। ये दोनों सीटें हमने कांग्रेस के साथ बिना किसी गठबंधन के लिए कांग्रेस के लिए छोड़ दी हैं।

इसलिए कांग्रेस से नहीं किया गठबंधन

कांग्रेस पार्टी के शामिल न करने पर मायावती ने कहा कि कांग्रेस राज में बहुत से लोग परेशान हैं। इनके शासनकाल में बेरोजगारी, भ्रष्टाचार बढ़ा है। इनके शासन काल में देश का हाल बेहाल था, इसलिए इसे हमने अपनी पार्टी में सामिल नहीं किया और इनकी गलत नीतियों की वजह से ही सपा और बसपा जैसी पार्टियों का गठन हुआ है। कांग्रेस को खुद घोटाले की वजह से ही अपनी सरकार गंवानी पड़ी थी। अब बीडेपी को बी राफेल के मुद्दे के कारण केंद्र से अपनी सरकार गंवानी पड़ेगी।  हमारी पार्टियों को तो इन बड़ी पार्टियों को लाभ मिल जाता है,लेकिन इन पार्टियों से हम जैसी इमानदार पार्टियों को कोई लाभ नहीं मिलता है। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Mayawati and Akhilesh Yadav address a joint press briefing in Lucknow

More News From national

Bangali Guru
free stats