image

नई दिल्लीः राम जन्मभूमि - बाबरी मस्जिद भूमि मालिकाना हक विवाद मामले की सुनवाई करने वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ के सदस्य न्यायमूर्ति यू यू ललित ने बृहस्पतिवार को स्वयं को सुनवाई से अलग कर लिया। इसके बाद उच्चतम न्यायालय ने एक नई पीठ के समक्ष मामले की सुनवाई के लिए 29 जनवरी की तारीख तय की हैं।

Read More पाक अपनी हरकतों से नहीं आ रहा बाज, नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी शुरू

Read More जम्मू एवं कश्मीर में महसूस किए गए भूकंप के झटके

पीठ के बैठते ही मुस्लिम पक्ष की ओर से पेश वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ को बताया कि न्यायमूर्ति ललित उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की पैरवी करने के लिए 1994 में अदालत में पेश हुए थे। हालांकि धवन ने कहा कि वह न्यायमूर्ति ललित के मामले की सुनवाई से अलग होने की मांग नहीं कर रहे, लेकिन न्यायाधीश ने स्वयं को मामले की सुनवाई से अलग करने का फैसला किया।

Read Moreअमेरिकी सेना काे मिली बड़ी कामयाबी, मार गिराए 6 अल-शबाब आतंकी

Read More कश्मीर घाटी में शीतलहर जारी, बर्फबारी हाेने की संभावना

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Ayodhya Case: Justice U U Lalit Recuses From Hearing

More News From national

Bangali Guru
free stats