image

फरीदकोटः 9 सितंबर को अकाली दल ने कांग्रेस प्रधान सुनील जाखड़ के गढ़ में पोल खोल रैली की थी। अब अकाली दल 16 सितंबर को फरीदकोट में रैली करने जा रहा था। लेकिन पंजाब सरकार ने कानून व्यवस्था का हवाला देकर पोल खोल रैली करने की मंजूरी नहीं दी है। दरअसल, इस रैली को पहले फरीदकोट के कोटकपूरा में करने का फैसला लिया गया था, लेकिन किन्ही कारणों की वजह से ये रैली फरीदकोट की अनाज मंडी में करने का फैसला लिया गया। लेकिन पंजाब सरकार ने सुरक्षा कारणों का हवाला देकर इस रैली को करने की इजाजत नहीं दी है। इसके बाद अब अकाली दल के तेवर गर्म है। अकाली दल ने कहा है कि ये कांग्रेस सरकार का तुगलकी फरमान है। अकाली दल अब पंजाब सरकार के इस फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दे सकता है। 

वहीं फरीदकोट में अकाली दल के प्रवक्ता परमबंस बंटी रोमाणा ने बताया कि उनकी तरफ से फरीदकोट की अनाज मंडी में रेली के लिए कार्यक्रम रखा गया था जिस को अब पंजाब सरकार ने मंजूरी देने से मना कर दिया है जबकि रैली की सब तैयारियां मुक्कमल हो चुकी हैं उन्होंने बताया कि अब सरकार अकाली दल के प्रभाव को देखकर हड़बड़ा गई है और कुछ दादूवाल जैसे लोगो के सामने दुम हिला रही हैं। वहीं फरीदकोट के जिला पुलिस कप्तान आर बी एस सन्धु ने बताया कि सुरक्षा एजेंसियों की तरफ से मिले इनपुट्स पर आधारित हो इस रैली को नामंजूर किया गया है और सुरक्षा की दृस्टि से सुरक्षा बल तैनात किया गया है।

इसके अलावा आम आदमी पार्टी के विधायक एचएस फुलका ने भी पंजाब सरकार के इस फैसले को सही करार दिया है। फुलका ने कहा कि जहां बेअदबी की घटनाओं को लेकर धरने प्रदर्शन हो रहे हैं। वहां पर रैली करना उचित नहीं है। 
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Akali Dal Poll Khol rally not approved by Punjab government

More News From punjab

Advertisement
Advertisement
free stats