image

 

लखनऊः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि शांति एवं कानून-व्यवस्था से किसी तरह का समझौता नहीं किया जा सकता। योगी ने कहा कि जिलों में जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक या पुलिस अधीक्षक कानून एवं शांति व्यवस्था के लिए सीधे जिम्मेदार हैं। मुख्यमंत्री ने विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, प्रमुख सचिव गृह, पुलिस महानिदेशक, समस्त जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एवं पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक के दौरान उक्त बातें कहीं।

बैठक के बाद मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय ने बैठक में चर्चा किये गये विषयों और योगी के निर्देशों से संवाददाताओं को अवगत कराते हुए एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश के अधिकारियों को कानून-व्यवस्था एवं विकास कार्यों के कार्यान्वयन के सम्बन्ध में निर्देश दिए। मुख्य सचिव ने बताया कि अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव एवं सचिवों सहित वरिष्ठ अधिकारी 15 से 20 जून के बीच जिलों में निरीक्षण करेंगे, जिला अस्पतालों और तहसीलों में जाएंगे। गांवों में जाकर भौतिक सत्यापन करेंगे और 20 जून तक रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपी जाएगी।

उन्होंने बताया कि 45 अधिकारी अलग अलग जिलों में जाएंगे। उनकी रिपोर्ट का विश्लेषण करने के बाद .. कौन सी योजनाओं का कार्यान्वयन कैसे चल रहा है, कहां दिक्कतें हैं, क्या क्या लंबित है.. इसका विस्तृत विश्लेषण होगा। पाण्डेय ने बताया कि उसके बाद मुख्यमंत्री खुद सभी मंडलों में जाकर निरीक्षण करेंगे। मुख्यमंत्री ने कल चिकित्सा विभाग के सभी सीएमओ को बुलाया है।परसों शिक्षा विभाग में सभी बीएसए और डीआईओएस के साथ समीक्षा होगी। उसके बाद मंडलों का भ्रमण प्रारंभ होगा।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Yogi Adityanath Said That, No Compromise Can Be Made With Law And Order

More News From national

Next Stories
image

free stats