image

झांसीः उत्तर प्रदेश के झांसी-ललितपुर क्षेत्र से सांसद और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा है कि देश मे असहिष्णुता का सबसे बड़ा शिकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बने हैं। यहां एक स्थानीय होटल में शुक्रवार को व्यापारियों से मन की बात करने आयी केंद्रीय मंत्री ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा ‘‘देश मे अगर असहिष्णुता के शिकार की बात की जाएं तो प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी इसके सबसे बडे शिकार बनें। वामपंथी बुद्धिजीवियों की असहिष्णुता का शिकार मोदी जी हुए,विरोधी दलों की असहिष्णुता का भी सबसे बड़ा शिकार मोदी जी हुए।

विपक्षी दलों के नेताओं के बयानों को बताया गया कि वह उनके निजी बयान हैं लेकिन हमारे संगठन से सीधी जुड़ाव नहीं रखने वाले किसी व्यक्ति विशेष ने देश में कहीं भी कोई घटना कर दी या बयान दिया तो उसका जवाब सीधे संसद में प्रधानमंत्री से मांगा गया। हद तो यह हो गयी कि इसको लेकर संसद भी नहीं चलने दी गयी। ऐसे लोगों को जनता सबक सीखायेगी। ऐसे लोगों को घर बैठाना पड़ेगा, ऐसे लोग राजनीति करने लायक नहीं हैं।’’

विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए भारती ने कहा कि देश की राजनीति में एक बहुत बड़ी समस्या तुष्टिकरण की राजनीति, वोट बैंक की राजनीति की है। विपक्षी दल आतंकवाद और पाकिस्तान के मुद्दे पर इस तरह बयान देते हैं कि देश का मुस्लिम मतदाता उनसे नाराज न हो। आतंकवाद जितना बढावा मिला उसमें हमारे विरोधी दलों की बयानबाजी की भी बहुत बडी भूमिका है।

कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि धर्म के आधाार पर देश का विभाजन कांग्रेस ने किया। उस समय मोदी जी तो पैदा भी नहीं हुए थे जब देश को धर्म के आधार पर कांग्रेस ने बांटा। देश के विभाजन का और कोई आधार नहीं था गरीबी एक जैसी थी, भ्रष्टाचार एक जैसा था, शोषण एक जैसा था और संस्कृति एक जैसी थी केवल धर्म ही एक नहीं था और जिन्ना ने इसी आधार पर अलग देश की बात की थी और कांग्रेस ने अल्ससंख्यकों का तुष्टिकरण करने के लिए ऐसी बातों को बढावा दिया था।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Narendra Modi is the biggest victim of intolerance in the country: Uma Bharti

More News From national

free stats