image

लखनऊः केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार को संत रविदास के आदर्शो का अनुकरण करने की नसीहत देते हुये बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती ने मंगलवार को कहा कि छोटे मन से कोई भी बड़ा नहीं हो सकता। मायावती ने यहां जारी बयान में कहा कि सामाजिक परिवर्तन का अलख जगाने वाले सन्त रविदास ने अपना सारा जीवन इन्सानियत का संदेश देने में गुज़ारा और जातिभेद के ख़िलाफ आजीवन कड़ा संघर्ष करते रहे। आज के संकीर्ण और जातिवादी माहौल में उनके मानवतावादी संदेश की बहुत अहमियत है।

उन्होंने कहा कि सत्ताधारी पार्टी के लोगों को चाहिये कि वे केवल उन्हें स्मरण करने की रस्म नहीं निभायें बल्कि इससे पहले अपने मन को संकीर्णता, जातिवाद एवं साप्रदायिकता से पाक करके मन को चंगा करें क्योंकि छोटे मन से कोई भी बड़ा नहीं हो सकता। बसपा प्रमुख ने कहा कि संत रविदास वाराणसी में छोटी जाति में जन्म लेने के बावजूद प्रभु-भक्ति के बल पर ब्रम्हाकार हुये। एक प्रबल समाज सुधारक के तौर पर वे आजीवन कड़ा संघर्ष करके हिन्दू धर्म में व्याप्त जन्म पर आधारित गैर-बराबरी वाली वर्ण-व्यवस्था और अन्य कुरीतियों के ख़िलाफ संघर्ष करते रहे तथा उसमें सुधार की पुरज़ोर कोशिश करते रहे।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Mayawati's statement on Modi government, no bigger than small mind

More News From uttar-pradesh

free stats