image

 

लखनऊः भीषण गर्मी की चपेट में आये उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में गुरुवार शाम तेज रफ्तार आंधी और ओलावृष्टि ने जमकर कहर बरपाया। मौसम के बदले मिजाज के चलते हुए हादसों में कम से कम 12 लोगों की मृत्यु हो गयी, जबकि कई अन्य गंभीर रुप से घायल हो गये। वहीं ओलावृष्टि से जायद फसलों को व्यापक नुकसान पहुंचा। एटा, कासगंज, मैनपुरी समेत पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में दोपहर बाद चक्रवाती तूफान से सैकड़ों पेड और बिजली के पोल जमीन चूम गये जबकि बाद में बारिश और ओलावृष्टि से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया।

मौसम के बदले मिजाज से तापमान में खासी गिरावट दर्ज की गयी जिससे लोगों को फौरी तौर पर गर्मी से राहत मिली। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मैनपुरी, कासगंज, एटा, फिरोजाबाद आदि जिलों में गुरुवार को आए आंधी-तूफान में प्रभावित लोगों को तत्काल राहत पहुंचाने के निर्देश देते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में राज्य सरकार उनके साथ है और प्रभावितों की हर सम्भव मदद की जाएगी।

योगी ने प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों को कहा है कि आंधी-तूफान से जन हानि, पशु हानि एवं मकान क्षति से प्रभावित लोगों को 24 घण्टे के भीतर सहायता राशि उपलब्ध करा दी जाए।उन्होंने राज्य आपदा मोचक निधि के दिशा-निर्देशों के अनुरुप पीड़ितों को वित्तीय मदद उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस दैवीय आपदा के प्रत्येक मृतक के आश्रितों को चार-चार लाख रुपए की सहायता राशि तत्काल वितरित की जाए।

उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी अपने-अपने जिलों में फसलों को हुए नुकसान का तत्काल आकलन करें। फसल क्षति का 48 घण्टे के भीतर कृषकवार सर्वे कराया जाए। जिन किसानों की बोई गई फसलों में 33 प्रतिशत से अधिक की क्षति हुई है, ऐसे प्रभावित किसानों को कृषि निवेश अनुदान वितरित किया जाए। इस सम्बन्ध में धनराशि का मांग पत्र शासन को तत्काल उपलब्ध कराया जाए। राहत कार्यों में किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: High Speed Storm And Hailstorm Wreak Havoc, 12 Deaths

More News From national

Next Stories
image

free stats