image

उत्तर प्रदेशः पश्चिमी यूपी एसटीएफ ने फर्जी कागजात के आधार पर विभिन्न बैंकों के क्रेडिट कार्ड बनवाकर 10 करोड़ रुपये से ज्यादा की ठगी करने वाले एक गिरोह के तीन लोगों को रविवार को गिरफ्तार करके उनके पास कई जाली व्रेडिट क्रेडिट कार्डों सहित दूसरी चीजें बरामद करने में सफलता हासिल की। एसटीएफ एसपी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि एक सूचना के आधार पर पुलिस उपाधीक्षक राजकुमार मिश्रा व उनकी टीम ने थाना सेक्टर 24 क्षेत्र से भूपेंद्र, तीरथ ओर चंद्रप्रकाश को पकड़ा। ये तीनों दिल्ली के निवासी है।

Read More  खुलासाः बालाकोट में अभी भी पड़ी हैं आतंकियों की लाशें, बेनकाब होने से डर रहा PAK

पुलिस ने इनके पास से विभिन्न बैंकों के 36 क्रेडिट कार्ड व डेबिट कार्ड, आठ आधार कार्ड, सात बैंक पासबुक, आठ मोबाइल फोन, विभिन्न बैंकों से क्रेडिट कार्ड जारी कराने के लिए भरे हुये ओरिजिनल फॉर्म, सिटीबैंक के आठ क्रेडिट कार्ड, विभिन्न बैंकों द्वारा जारी 16  क्रेडिट कार्डों की फोटो कॉपी, एक लैपटॉप और दूसरी चीजें बरामद की हैं।

Read More   पीएम मोदी बोले- बहुत हो गया, हम अनंत काल तक नहीं रह सकते पीड़ित

बीते तीन सालों से सक्रीय इस गिरोह के लोगों ने जाली दस्तावेज के आधार पर विभिन्न बैंकों से एक हजार से ज्यादा डेबिट व व्रेडिट कार्ड बनवाए तथा उसके जरिए 10 करोड़ रुपये से ज्यादा की ठगी की।उन्होंने बताया कि भूपेंद्र कई मोबाइल कंपनियों और बैंकों के लिए काम कर चुका है। उसका मुख्य काम ग्राहक से कागजात लाना होता था। उसी समय यह ग्राहकों के कागजात का दुरुपयोग करके व्रेडिट कार्ड बनवा लेता था। दूसरा आरोपी तीरथ दिल्ली में स्थित टीवीएस मोटरसाइकिल के शोरुम में सेल्स मैनेजर के पद पर काम करता है. वह केवाईसी से संबंधित कागजात इस गिरोह को मुहैया कराता था जबकि तीसरा बदमाश चंद्रप्रकाश बैंकों के लिए काम करने वाली एक कंपनी में काम करता था। यह आरोपी बैंकों के जारी क्रेडिट और डेबिट कार्ड ग्राहकों तक पहुंचाता था।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: cheating with fake credit card in uttar pardesh

More News From national

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats