image

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में एक मदरसे के शिक्षक ने शिकायत दर्ज कराई है कि ‘जय श्री राम’ नहीं बोलने की वजह से कुछ लोगों के एक समूह ने उसे पीटा और चलती ट्रेन से धक्का दे दिया। सरकारी रेलवे पुलिस (जीआरपी) के एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। यह घटना, झारखंड की उस घटना के महज दो दिन के अंदर सामने आई है, जिसमें 22 वर्षीय तबरेज अंसारी को भीड़ ने 18 घंटे तक पीटा और उसे जय श्री राम और जय हनुमान कहने के लिए बाध्य किया। तबरेज की बाद में मौत हो गई।

पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के 26 वर्षीय मदरसा शिक्षक हफीज मोहम्मद शाहरुख हलदर ने कहा कि उन पर हमला बीती गुरुवार को हुआ, जब वह ट्रेन से कैनिंग से हुगली जा रहे थे। अधिकारी ने बताया, ‘‘हलदर ने कहा कि लोगों का एक समूह उनके पास आया और उनसे जय श्री राम कहने के लिए कहा।

जब उन्होंने मना किया तो इन लोगों ने उन्हें पीटना शुरू कर दिया और जब ट्रेन पार्क सर्कस स्टेशन में दाखिल हो रही थी, तब उन लोगों ने उन्हें ट्रेन से धक्का दे दिया।’’ हलदर की आंख और हाथ पर चोट आई है।अधिकारी ने कहा कि हलदर ने सोमवार को बालीगंज जीआरपीएस में अज्ञात लोगों के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Without speaking 'Jai Shri Ram' in Bengal, the madrasa teacher pushed the moving train

More News From national

Next Stories
image

free stats