image

कोच्चि : केरल में 29 मई से जारी भीषण बारिश के कारण राज्य के विभिन्न हिस्सों में वर्षा जनित हादसों में अब तक 324 से अधिक लोगों की मौत हो गई है और बाढ़ के पानी में फंसे  82,442 लोगों को बाहर निकाला जा चुका है।आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राज्य में नौ अगस्त से जारी भीषण बारिश से इडुक्की और मलाप्पुरम जिलों में ही 164 से अधिक लोगों की मौत हो गई है।

राज्य में पिछले चार दिनों से हालात काफी बिगड़ गए हैं और सेना, वायु सेना, नौसेना तथा तट रक्षक बल के अलावा एनडीआरएफ, स्थानीय पुलिस तथा दमकल विभाग राहत तथा बचाव कामों में लगे हुए हैं। विभिन्न क्षेत्रों में बाढ़ के पानी में फंसे हुए 82, 442 लोगों को निकाला जा चुका है।

सरकार ने 3,14,391 लोगों को  2,094 राहत शिविरो में भेज दिया है।केंद्र ने 339 मोटर बोट, 2800 जीवन रक्षक जैकेट, 27 लाइट टॉवर और एक हजार रेनकोट भेजे हैं। राहत बचाव अभियान में तेजी लाने के लिए 72 मोटर बोट , 5000 जीवन रक्षक जैकेट , 13 लाइट टॉवर और 1000 रेनकोट और भेजने का निर्णय लिया गया है। खाने के भोजन के एक लाख पैकेट वितरित किये जा चुके हैं जबकि एक लाख पैकेट और भेजे जा रहे हैं। दूध पाउडर भी भेजा जा रहा है।

नौसेना ने गोतोखोरों की टीमों के साथ 51 नौका तैनात की हैं , एक हजार जीवन रक्षक जैकेट और 1300 बरसाती जूते केरल में प्रभावित क्षेत्रों में भेजे जा रहे हैं। राहत बचाव अभियान के तहत नौसेना ने पिछले 48 घंटे में 16 उडान भरी हैं। 
नौसेना प्रभावित क्षेत्रों में आज 1600 खाद्य पैकेट गिरायेगी। तटरक्षक बल ने बचाव टीमों के साथ 30 नौका तैनात की हैं जिनके पास 300 जीवन रक्ष जैकेट और  7 छोटी नौका हैं।
वायु सेना के 23 हेलिकॉप्टर, 11 मालवाहक विमान तैनात किये हैं तथा और विमान येहलंका तथा नागपुर से भेजे जा रहे हैं। सेना ने 10 टुकडियों , इंजीनियरिंग टास्क फोर्स की 10 टीमें , 60 नौका और 100 जीवन रक्षक जैकेट बचाव अभियान में लगा रखी हैं।

एनडीआरएफ के 43 बचाव दल और 163 नौका बचाव उपकरणों के साथ अभियान चला रहे हैं। कैबिनेट सचिव ने केंद्रीय पुलिस बलों को भी अतिरिक्त संसाधन जुटाने को कहा है। रेलवे ने पानी की एक लाख 20 हजार बोतल भेजी हैं जबकि इतनी ही बोतलें भेजी जा रही हैं। दो लाख 90 हजार लीटर पानी लेकर एक विशेष ट्रेन भी कल कायाकुलम पहुंच जायेगी। केरल सरकार को कोच्चि स्थित नौसेना की हवाई पट्टी का इस्तेमाल करने की अनुमति दी गयी है। टेलिफोन कनैक्टीविटी के लिए वी सेट लिंक मुहैया कराये जाने के बारे में विचार किया जा रहा है। आपात चिकित्सा सुविधाओं को भी तैयार रखने के लिए कहा गया है। 

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: The catastrophic floods in Kerala, so far 324 deaths

More News From national

Next Stories
image

free stats