image

सर्दी में लोग ऊनी कपड़ों की देखभाल के लिए आजकल बहुत से प्रोडक्ट्स आ गए है जिससे कपडे बहुत ज्यादा अच्छे हो जाते है। ऊनी कपड़ों पर प्रेस करने की ज्यादा जरूरत नहीं पड़ती। कपड़े को हमेशा उल्टी तरफ से ही प्रेस करना चाहिए। सीधी तरफ से प्रेस करने पर उसमें रोएं आने या खराब होने की आशंका होती है। इतना ही नहीं, इससे ऊनी कपड़ों के कलर भी फेड हो सकते हैं। उनकी चमक भी फीकी पड़ सकती है।ऊनी वस्त्र यदि आपने सर्दियों के आने पर महीनो बाद निकाले है तो उनमे गंध आती है। इन्हें धूप में कुछ घंटे फैलाकर रखने से गंध निकल जाती है। इसके बाद इन्हें धो कर काम लेना चाहिए।

 कपड़े धोते वक्त साबुन या सर्फ के चुनाव से लेकर कपड़ों को साफ करने का तरीका तक मायने रखता है। इस बात को जानना बेहद जरूरी है कि कौन-से कपड़े किस तरह से धोए जाएं ताकि न सिर्फ कपड़े अच्छी तरह से साफ हों, बल्कि उनकी उम्र भी बढ़े।

कपड़ों को धोते वक्त कुछ बातों को ध्यान में रखने की जरूरत होती है। कपड़ों को हमेशा उल्टा करके साफ करें ताकि कपड़ों का रंग न उड़े। साथ ही कपड़ों को ब्लीच न करें। ब्लीच करने से कपड़े कमजोर हो जाते हैं। कपड़ों के पीलेपन को कम करने के लिए उस जगह पर नीबू का रस लगाएं और उसे ठंडे पानी में आधे घंटे रखें। फिर उसे धो लें। साथ ही सफेद और रंगीन कपड़ों को अलग-अलग धोएं।

स्वेटर को कभी भी लटकाकर न सुखाए | हमेशा चारपाई या समतल स्थान पर अखबार या साफ कपड़े पर छाया में सुखाएं, इससे स्वेटर का आकार नहीं बिगड़ेगा | स्वेटर हमेशा हल्के हाथों से निचोड़े और सूखने के बाद इसके रेशे को हल्के हाथ से झाड़ लें |इस तरह इन टिप्स की मदद से आप ऊनी कपड़ों का ध्यान रख सकते है। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: the care of these things kept for the care of woolen cloth will not need to be pressed

More News From life-style

Next Stories

image
free stats