image

ओटोमोबाइल कंपनी स्कोडा ने हाल ही में अपनी सुपर्ब का बम और बुलेट प्रूफ वर्जन सुपर्ब एस्टेट पेश किया है। कंपनी ने ये कार यूके बेस्ड कन्वर्टर के साथ ज्वाइंट वेंचर में बनाई है। इसकी कीमत लगभग 1.06 करोड़ रुपये रखी गई है। इस कार को कंपनी ने तीन साल की प्लानिंग, डेवलेपमेंट और टेस्टिंग के बाद तैयार किया है। भारत में कई राज्यपाल स्कोडा सुपर्ब कार का इस्तेमाल करते हैं।

सुपर्ब एस्टेट के फीचर्स-
-इस बख्तरबंद गाड़ी में स्टैंडर्ड 2.0 TDI इंजन दिया गया है जो 188 bhp की पावर जनरेट करता है। 

-इसकी बाकी स्पेसिफिकेशन के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। 

-इसकी पैसेंजर सेल को बैलेस्टिक और ब्लास्ट से बचाने के लिए PAS 300 को जरुरतों के हिसाब से तैयार किया गया है। 

-यह सर्टिफिकेट कार पर अलग-अलग तरीकों से ब्लास्ट और फायरिंग की टेस्टिंग के बाद दिया गया है।

-इसके सस्पेंशन और ब्रेकिंग सिस्टम को गाड़ी के अतिरिक्त वजन के हिसाब से अपडेट किया गया है। 

-इसमें ऐसा व्हील डिजाइन दिया गया है जिसके कारण टायर पंक्चर होने के बाद भी गाड़ी को भगाया जा सकता है। 

-इसमें इमरजेंसी लाइटिंग और सायरन सिस्टम भी लगाया गया है। साथ ही इसमें जीपीएस, एप्पल कारप्ले और एंड्रायड ऑटो फंक्शनलिटी वाला 8 इंच टचस्क्रीन कम्युनिकेश हब दिया गया है।

एेसे बनती है बुलेट प्रूफ कार?
-किसी भी गाड़ी को बुलेट प्रूफिंग करने के लिए सबसे पहले मेटल शीट का चुनाव करना होता है। शीट कितनी मोटी होगी यह हथियारों पर निर्भर करता है। 

-भारत में बुलेटप्रूफ कार के निर्माण में 6.5 मिमी मोटाई की शीट का इस्तेमाल किया जाता है। 

-मेटल शीट की मोटाई तय करने के बाद, तराशने का काम शुरू किया जाता है। 

-मेटल शीट को इंस्टाल करते वक्त, इंजन फायर वाल की प्रोटेक्शन पर ध्यान देना होता है क्योंकि एक-एक वायर और वाल्व का ध्यान रखते हुए बुलेटप्रूफ प्रोटेक्शन किया जाता है और साथ ही फ्लोरिंग पर भी ध्यान दिया जाता है, क्योंकि वहां पर फ्यूल पाइपिंग, ट्रांसमिशन, आयल और इलेक्ट्रिकल वायरिंग भी होती है।

-बुलेटप्रूफ कार के शीशों को भी मजबूत बनाने में काफी मशक्कत होती है इसके लिए लगभग 45 से 55 mm का ग्लास इस्तेमाल किया जाता है। बदलते वक्त और डिजाईन के हिसाब से भी बुलेटप्रूफ कार में बदलाव किए जा रहे हैं।

-कई बार गाड़ियों की बुलेटप्रूफिंग कराने का खर्च कार की कीमत से ज्यादा होता है। 

-पूरी गाड़ी की बुलेट प्रूफिंग पर तकरीबन 20 से 25 लाख का खर्चा आ सकता है। सिर्फ साइड बॉडी की बुलेट प्रूफिंग पर तकरीबन 10 से 15 लाख और केवल शीशों की बुलेटप्रूफिंग पर तकरीबन 5 लाख रुपए खर्च होते हैं। 

-बुलेटप्रूफ कार की सबसे खास बात यह है कि इसको देख कर कोई भी बुलेट प्रूफिंग का अंदाजा नहीं लगा सकता है। परन्तु चलाते समय बुलेटप्रूफ गाड़ी काफी भारी हो जाती है और इसके दोनों साइड की खिडकियां खुल भी नहीं सकती। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: skoda launched new bullet proof superb estate

More News From automobile

Next Stories
image

free stats