image

स्पोर्ट्स न्यूज : भारतीय क्रिकेटर रिद्धिमन साहा ने एक क्लब टी20 मैच में 20 गेंदों पर 102 रन बना डाले। ये सबसे फास्टेस्ट सेन्चुरी का नया रिकॉर्ड है। पहले ये रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के क्रिस गेल के नाम था। उन्होंने ये रिकॉर्ड IPL 2013 में पुणे के खिलाफ 30 बॉल पर सेन्चुरी लगागर बनाया था। बता दें कि धोनी के टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट का फायदा साहा को मिला। क्योंकि उनके बाद साहा इस फॉर्मेट में टीम के रेगुलर विकेटकीपर बन चुके हैं। बंगाल के लिए घरेलू क्रिकेट खेलने वाले साहा ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत एक फास्ट बॉलर के तौर पर की थी, लेकिन बाद में वे विकेटकीपर-बैट्समैन बन गए।

इंडियन क्रिकेटर रिद्धमान साहा टी20 मैच में फास्टेस्ट सेन्चुरी लगाकर फिलहाल सुर्खियों में हैं। उन्होंने 6 अप्रैल से शुरू हो रहे IPL के नए सीजन के लिए अपनी तैयारियों को बता दिया है। इस बार के IPL में रिद्धिमन सनराइजर्स हैदराबाद की टीम से विकेट के पीछे और बैटिंग करते हुए दिखाई देंगे। साहा को हैदराबाद की टीम ने इस बार की ऑक्शन में 5 करोड़ रुपए में खरीदा है। 24 अक्टूबर 1984 को पैदा हुए साहा पश्चिम बंगाल में सिलिगुड़ी के रहने वाले हैं। उनका बचपन यहां के शक्तिगढ़ में बीता।
 
आज करोड़पति बन चुके और टीम इंडिया की टेस्ट टीम में नियमित विकेटकीपर साहा का बचपन उतना अच्छा नहीं गुजरा। साहा के पिता का नाम प्रशांत साहा है। वह पश्चिम बंगाल इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड में जॉब करते थे। उनकी कम कमाई कम थी। इस वजह से उनकों बचपन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।रिद्धिमन साहा के अलावा भी कई ऐसे भारतीय क्रिकेटर्स हैं जो आज अच्छा लाइफस्टाइल जी रहे हैं, लेकिन स्टार बनने से पहले इन क्रिकेटर्स के पिता मामूली नौकरी करते थे।

   

 

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: sahas father to have a modest job son is millionaire today

More News From sports

Next Stories
image

IPL 2019 News Update
free stats