image

नई दिल्ली: राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड (RINL) के रायबरेली संयंत्र में जल्द ही पहियों की फोर्जिंग का काम शुरु हो जाएगा। केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने इसके सितंबर 2019 से शुरु होने की संभावना जतायी है। इस्पात मंत्रालय के एक अधिकारी के अनुसार फोर्ज किए हुए पहियों उत्पादन सितंबर 2019 से शुरु हो सकता है। उल्लेखनीय है कि पहले पहिये को ढाला जाता (कास्ट) है। उसके बाद उसकी पिटाई (फोर्जिंग) की जाती है ताकि उसे ठोस और मजबूत बनाया जा सके।

URI के बाद अब दर्शकों को डराने आ रहे हैं विक्की कौशल

इसके बाद पहियों की घिसाई कर उसे आकार दिया जाता है। सिंह ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश के रायबरेली में स्थित आरआईएनएल के संयंत्र में अधिकतम एक से डेढ़ महीने में उत्पादन शुरु हो जाएगा।’’ यह संयंत्र सालाना एक लाख फोर्ज पहियों का निर्माण करने की क्षमता रखता है। अधिकारी ने कहा कि इसे बढ़ाकर दो लाख इकाई प्रतिवर्ष किया जाना है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: RINL's Rae Bareli plant will start working on forging of wheels

More News From business

Next Stories
image

free stats