image

अहमदाबाद: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भाई और गुजरात उचित मूल्य दुकान मालिक संघ के अध्यक्ष प्रह्लाद मोदी ने आज कहा कि उचित मूल्य दुकानों में लगाये गये साफ्टवेयर में कुछ समस्या होने के कारण प्रदेश में कई लोगों को राशन प्राप्त नहीं हो सका। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत लगभग 17,000 राशनर् उचित मूल्यी दुकानों के जरिये योग्य लाभार्थियों को सब्सिडीप्राप्त खाद्यान्नों को देने के लिए राज्य सरकारा ने अप्रैल 2016 में मां अन्नपूर्णा योजना को शुरु किया था। ये दुकानें ‘ई.एफपीएस सॉफ्टवेयर’ के जरिये केंद्रीय ‘डाटाबेस’ से संबद्ध हैं। इस प्रणाली के तहत किसी उपभोक्ता को अपने हिस्से का राशन प्राप्त करने के लिए अपना आधारकार्ड का विवरण देना होता है और अंगूठे का निशान मुहैया कराना होता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सबसे छोटे भाई प्रह्लाद मोदी ने कहा कि कई ऐसी दुकानों में सॉफ्टवेयर ठीक से काम नहीं कर रहा है जिसके कारण लाभार्थियों को खाली हाथ लौटना पड़ रहा है। प्रह्लाद मोदी ने पीटीआई को बताया कि राज्य में कई उचित मूल्य दुकानों ने ‘सॉफ्टवेयर’ की समस्या के बारे में शिकायतें की हैं जो ग्राहकों के अंगूठे के निशान और उनके आधारकार्ड को पढ़कर ग्राहक के बारे में पुष्टि करता है।

उन्होंने कहा कि साफ्टवेयर के साथ कई समस्यायें हैं। कई बार यह अंगूठे के निशान को पढ़ नहीं पाता और आधारकार्ड के विवरणों को स्वीकार नहीं करता और ऐसे वक्त कुछ अधिक समय लगाता है। कई बार तो सॉफ्टवेयर के धीमा चलने के कारण ‘लॉग.इन’ करने में दिक्कत आ रही है। उन्होंने मांग की कि सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिये कि ये दिक्कतें समाप्त हों। इस ऐसे दुकान मालिकों को मासिक राशन की बिव्री करने के लिए पुराने ‘मैनुअल सिस्टम’ का इस्तेमाल करने की अनुमति दी जानी चाहिये। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार को कोई विकल्प उपलब्ध कराना चाहिये ताकि ग्राहक खाली हाथ लौटने को बाध्य न हो। सरकार को दुकान मालिकों को भी प्रशिक्षण देना चाहिये कि वे साफ्टवेयर का किस तरह से संचालन करें।’’ मोदी और उनके संगठन के अन्य सदस्यों ने कल इस संदर्भ में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों के विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात है। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार इस बात पर सहमत हुई है कि सॉफ्टवेयर की समस्या के कारण किसी भी लाभार्थी को सब्सिडीप्राप्त खाद्यान्न के बगैर खाली हाथ नहीं लौटना होगा। सरकार ने आश्वस्त किया है कि समस्या का निदान निकलने तक कुछ वैकल्पिक इंतजाम किये जायेंगे।’’

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: ration is not available to people in gujarat due to problem of software

More News From gujarat

Next Stories
image

IPL 2019 News Update
free stats