image

नारायण्गढ़: वर्ष 2013 में गांव महुआखेड़ी के गुरदीप हत्याकांड के चश्मदीद गवाह की रविवार की सुबह गोली मारकर हत्या कर दी गई। गुरदीप के हत्यारे मृत्क को कर्इं सालों से जान से मारने की धमकियां दे रहे थे। हत्यारे इन दिनों हाईकोर्ट से जमानत पर हैं। इसलिए अनुमान लगाया जा रहा है इस वारदात को भी उन्होंने ही अंजाम दिया होगा।

ग्रामीण और मृत्क के परिजन इस वारदात के लिए पुलिस को भी जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। मौके पर पंहुचे एस.पी. अभिषेक जोरवाल ने परिजनों को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है। गांव महुआखेड़ी वासी रणधीर सिंह को सुबह साढ़े आठ बजे गांव नखड़ौली के नजदीक गोलियों से छलनी कर दिया गया। रणधीर अपनी पत्नी व दोनों बच्चों को राधा स्वामी सतसंग घर नखड़ौली में छोड़कर वापस गांव की तरफ जा रहा था। जैसे ही वह अपनी कार में सतसंग घर से मात्र आधा किलोमीटर की दूरी तक पहुंचा तो सामने से आ रहे कार सवार हत्यारों ने उसकी कार रोककर अंधाधुंध गोलियां बरसा दी। 

हत्यारों ने 32 बोर की पिस्टल से लगभग एक दर्जन गोलियां चलाकर रणधीर के शरीर को छलनी कर दिया। पुलिस ने कार से 32 बोर के 6 खाली रौंद भी बरामद किए हैं। वारदात को अंजाम देने के बाद हत्यारे मौके से फरार हो गए। हैरत की बात है कि गांव से कुछ दूरी पर ही वारदात को अंजाम दिया गया लेकिन किसी को नहीं पता चला कि हत्यारे कौन थे और किस कार में सवार थे। एस.पी. अभिषेक जौरवाल की मौजूदगी में पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्ट मार्टम के लिए नारायणगढ़ के सरकारी अस्पताल में भेज दिया है। परिजनों की शिकायत पर मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: radha swamy was leaving the wife at home in the house of satoshi the miscreants gave death

Next Stories
image

free stats