image

नई दिल्ली : भारत की नवजोत कौर ने किर्गिस्तान के बिश्केक में चल रही सीनियर एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप के चौथे दिन महिला 65 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया, जबकि ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मालिक ने 62 किलोग्राम वर्ग में कांस्य हासिल किया। भारत का इस प्रतियोगिता में यह पहला स्वर्ण पदक है और इन दो पदकों के साथ भारत के कुल पदकों की संख्या 6 पहुंच गयी है। जिनमें एक स्वर्ण, एक रजत और चार कांस्य पदक शामिल हैं। नवजोत ने शुक्रवार को फाइनल मुकाबले में जापानी महिला पहलवान मीयू इमाई को 9-1 से हराया और अपनी पुरानी हार का बदला भी चुका लिया। इस उपलब्धि के साथ ही एशिया में स्वर्ण पदक जीतने वाली नवजोत पहली भारतीय महिला पहलवान बन गई हैं।

साक्षी ने काश्ममोवा को हराया
भारत की ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक ने 62 किलोग्राम वजन वर्ग में कांस्य पदक जीता। उन्होंने कांस्य पदक मुकाबले में कजाकिस्तान की अयोलिम काश्ममोवा को 10-7 से हराया।

नवजोत को बधाइयों का तांता
नवजोत की ऐतिहासिक उपलब्धि पर भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह, पद्मभूषण से सम्मानित महाबली सतपाल, दोहरे ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार, योगेश्वर दत्त, भारत केसरी जगदीश कालीरमन, रेलवे स्पोट्र्स प्रमोशन बोर्ड की सचिव रेखा यादव ने बधाई दी है।

पंजाब के तरनतारन की रहने वाली हैं नवजोत
सीनियर एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में महिला 65 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक जीतने वाली नवजोत कौर पंजाब की बेटी है। उनका जन्म तरनतारन जिले के गांव बागड़ीयां में हुआ था। इससे पहले नवजोत राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक जीत चुकी हैं।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: punjabs daughter navjot gets history by winning gold witness meets bronze

More News From sports

IPL 2019 News Update
free stats