image

चंडीगढ़: आज पंजाब विधानसभा सत्र में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब सरकार और भारत सरकार द्वारा करतारपुर कॉरिडोर खोले जाने को लेकर एप्रिसिएशन प्रस्ताव लेकर आये जो कि 550 से श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश उत्सव बनाए जाने को लेकर लंबे समय से जो पंजाबियों की मांग थी उसे मान लिया गया है साथी यह भी सुनिश्चित किया है कि किसी भी तरह से पंजाब के अमन शांति किसी भी तरह से डिस्टर्ब न की जाए। 

जब तक भारत और पाकिस्तान के बीच शांति नहीं आती तब तक मैं ननकाना साहिब माथा टेकने नहीं जाऊंगा क्योंकि पाकिस्तान अपने रवैया से बाज नहीं आ रहा और रोजाना जम्मू एंड कश्मीर में रोजाना आतंकवादी गतिविधियां हो रही है और रोज कई जवान शहीद हो रहे है और लगातार आतंकी घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है यहां तक कि पंजाब में भी यह बाज नहीं आ रहे हो रोजाना आतंकी हमले पंजाब में किए जा रहे हैं। शांति को भंग करने की कोशिश की जा रही है और मैं जहां एक से कहु वही साथ साथ ही मुख्यमंत्री भी हो और किसी भी तरह से मैं यह नहीं होने दूंगा और जब तक दोनों देशों में शांति नहीं होती मैं तब तक पाकिस्तान नहीं जाऊंगा।

डेरा बाबा नानक डेवलपमेंट अथॉरिटी पंजाब सरकार ने बना दी है भारत सरकार को जो भी मदद चाहिए राज्य सरकार को वह की जाएगी। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा अकाली दल के लीडर की फोटोस कमलनाथ के साथ दिखाई जा रही है और कहा जा रहा है कि यह दोगली राजनीति दिखा रहे हैं।

बीजेपी विधायक सोमनाथ ने कहा कि जरूर एक प्रस्ताव पास किया गया है लेकिन यह क्लियर नहीं है जैसे यह बिल बनेगा और क्या दलित महिलाओं को इसमें इतनी जगह मिलती है इस पर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि राज्य सरकार तो पूरी तरह से इसको लेकर गंभीर है बाकी कोई सुझाव है तो वह दिए जा सकते हैं वहीं उनकी खुद की सरकार केंद्र में है उन्हें सुझाव दे सकती है कि दलित महिलाओं को भी इसमें शामिल किया जाए।

मुख्यमंत्री ने अकाली दल के विधायक परमिंदर सिंह ढींडसा की फोटो कमलनाथ के साथ दिखाई जिसके जवाब में परमिंदर सिंह ढींडसा ने कहा कि कमलनाथ को कांग्रेस ने यूनियन कैबिनेट मंत्री बनाया तो ऐसे में पंजाब के मुद्दे उन्होंने उठाने हैं और उनके पास जाना पड़ेगा पंजाब के काम कराने के लिए। 

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को कहा है कि यदि सच में दोनों देशों की शांति चाहते हैं तो अपनी फौज को काबू करो और जो आतंकी घटनाएं हो रही है उन्हें रोकने के लिए प्रयास करें क्योंकि दोस्ती का हाथ अगर भारत ने बढ़ाया है तो उस दोस्ती का मूल भी रखा जाए, क्योंकि लोग यहां भी है लोग वहां भी है पंजाबी यहां भी है पंजाबी वहां भी हैं वहां के भी कई डॉक्टर, स्कॉलर, गायक भारत आते हैं और जहां से भी कई लोग पाकिस्तान में जाते हैं जहां कॉरिडोर खोल रहा है वही साथ ही दोनों देशों में शांति भी होनी चाहिए और एक ब्रिज आफ पीस बनेगा और 550 से प्रकाश उत्सव में लोगों को ननकाना साहिब जाने का मौका मिलेगा। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Punjab assembly session

More News From punjab

Next Stories
image

free stats